Connect with us

प्रादेशिक

विकास दुबे का पुलिस वालों में था खौफ, दरोगा ने की थी बीट बदलने की मांग

Published

on

कानपुर। कानपुर में सीओ समेत आठ पुलिस वालों का हत्यारा हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे वारदात के चार दिन बाद भी पुलिस की पकड़ से दूर है। सूत्र बता रहे हैं कि विकास ने चंबल के बीहड़ों में पनाह ली है। वहीँ, इस मामले में रोज नए नए खुलासे हो रहे हैं। चौबेपुर थाने के एक दरोगा ने स्वीकार किया है कि एक दिन पहले विकास ने फोन कर कहा था कि अपने थानेदार को समझा लो, अगर बात बढ़ी तो बिकरू गांव से लाश ही उठेगी।

दरोगा का कहना है कि दो जुलाई को शाम चार बजे फोन आया और तुरंत थानेदार को सूचना दी थी। साथ ही यह भी कह दिया था कि उसकी बीट बदल दी जाए। अब वह बिकरू गांव की बीट नहीं देख सकता। इतना ही नहीं विकास दुबे के रसूख और हिम्मत का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि उसने वारदात से करीब 1 घंटे पहले थाने के एक सिपाही को फोन करके पुलिसवालों को जान से मारने की धमकी दी थी।

सूत्रों के मुताबिक वारदात के एक घंटे पहले रात 12 बजकर 11 मिनट पर विकास दुबे ने चौबेपुर थाने के कान्स्टेबल राजीव चौधरी को फोन मिलाया और गालियां देकर पुलिस वालों की लाशें बिछा देने की धमकी दी थी लेकिन सिपाही ने ये बात अधिकारियों को नहीं बताई। जांच के दौरान सिपाही के फोन से विकास की रिकॉर्डिंग पुलिस के हाथ लगी है। सिपाही को सस्पेंड कर दिया गया है।

#vikasdubey #uttarpradesh #uppolice

प्रादेशिक

बुलंदशहर में मनचलों की छेड़खानी के दौरान होनहार छात्रा की सड़क हादसे में मौत

Published

on

बुलंदशहर। छुट्टियों में अमेरिका से वापस आई बुलंदशहर की छात्रा मनचलों के कहर का शिकार हो गई। मनचलों की छेड़छाड़ से बचने के लिए छात्रा का अपनी बाइक से कट्रोल हट गया जिससे वह तेज़ी से जमीन पर गिर पड़ी। इस हादसे में उसकी मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने छात्रा के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। अज्ञात बाइकर्स के खिलाफ मामला दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर ली गई है।

पीड़िता सुदीक्षा भाटी छुट्टियों में भारत आई हुई थी और 20 अगस्त को उसे अमेरिका वापस जाना था। जिस वक्त यह हादसा हुआ उस वक्त 19 वर्षीय यह छात्रा अपने दुपहिया वाहन पर सवार होकर बुलंदशहर जाने के अपने रास्ते पर थी। उसके परिवार के सदस्यों ने दावा किया है कि सोमवार की शाम को वह दादरी से अपने अंकल के साथ स्कूटी पर निकली थी और तभी मोटरसाइकिल पर सवार दो लोगों ने उनका पीछा करना शुरू किया।

लड़की के चाचा सत्येंद्र भाटी ने कहा, ये आदमी सुदीक्षा पर तंज कस रहे थे और साथ ही अपने मोटरसाइकिल पर तमाम तरह के स्टंट्स कर सुदीक्षा की स्कूटी को ओवरटेक कर उसे रिझाने की भी कोशिश कर रहे थे। एकाएक उनकी बुलेट ने सुदीक्षा की स्कूटी को टक्कर मार दी जिससे उसने अपना संतुलन खो दिया और मौके पर ही उसकी मौत हो गई। पुलिस अधीक्षक (सिटी) अतुल श्रीवास्तव ने कहा कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है और जांच जारी है।

#bulandshahr #death #student #uttarpradesh

Continue Reading

Trending