Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

चीन कर सकता है भारत पर जैविक हमला, सेना किसी भी परिस्थिति के लिए पूरी तरह तैयार

Published

on

नई दिल्ली। गलवान घाटी में भारत से मात खाने के बाद चीन भारत पर जैविक हमला कर सकता है। वह ऐसा सीधे न करके भारत विरोधी देशों या फिर किसी आतंकी संगठन की मदद से कर सकता है, लेकिन चीन की किसी भी हिमाकत का जवाब देने के लिए भारत पूरी तरह तैयार है।

ग्वालियर स्थित डीआरडीई के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि सेना इस तरह के खतरों से निपटने के लिए तैयार है। डीआरडीओ की अलग-अलग प्रयोगशालाओं ने खास उपकरण जैसे न्यूक्लीयर कैमिकल बायोलॉजिकल वारफेयर सूट, विशेष मुखौटे आदि तैयार किए हैं। जिनका उपयोग सैनिक कर रहे हैं। समय-समय पर उन्हें विशेष ट्रेनिंग भी दी जाती है। डीआरडीओ की ग्वालियर स्थित प्रयोगशाला (डीआरडीई) के जिम्मेदार अधिकारियों का कहना है कि जैविक हमले से भी निपटने के लिए सेना के पास पर्याप्त संसाधन हैं।

भारत वर्तमान में पड़ोसी मुल्कों की भूमिका से अशांत है। कूटनीतिक और सैन्य घेराबंदी से चीन बौखलाया हुआ है। सीमा पर पाकिस्तान भी रह रह कर गोलाबारी कर रहा है। नेपाल का रवैया भी ठीक नहीं है। एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन कर चीन जैविक हमले जैसी कायराना हरकत कर सकता है। पिछले दिनों सेना ने आतंकियों के लिए हथियार लेकर आए एक ड्रोन को मार गिराया था। ड्रोन के जरिए भी जैविक हमला संभव है। इस तरह के हमले में शोर शराबा नहीं होता, हमले का पता भी कुछ समय बाद पता चलता है और नुकसान भी अधिक होता है।

अन्तर्राष्ट्रीय

VIDEO : Nepal PM KP Sharma Oli ने खो दिया मानसिक संतुलन ,नेपाल में ओली के खिलाफ गुस्सा

Published

on

By

यूपी के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य का भी इस मुद्दे पर बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि भगवान श्रीराम का जन्म स्थल व प्रकट स्थल अयोध्या धाम है जो कि सरयू के तट पर है और उत्तर प्रदेश (भारत )में है।

माता सीता का जन्म स्थल व प्रकट स्थल नेपाल में है। केशव प्रसाद ने नेपाल के प्रधानमंत्री के बयान को सभी राम भक्तों की भावनाओं को आहत करने वाला बताया है।

 

#kpsharmaoli #nepal #lordram #india

Continue Reading

Trending