Connect with us

खेल-कूद

एक समय आत्महत्या करने का मन बना चुका था टीम इंडिया का ये क्रिकेटर

Published

on

नई दिल्ली। आईपीएल में हुई स्पॉट फिक्सिंग के दोषी पाए जाने के बाद क्रिकेट से बैन किए गए तेज गेंदबाज एस श्रीसंत में कभी अवसाद में आकर आत्महत्या जैसा कदम उठाने की सोच रहे थे लेकिन मजबूत इच्छाशक्ति और परिवार के साथ ने उन्हें ऐसा करने से रोक दिया।

श्रीसंत ने कहा है कि अगस्त 2013 में जब बीसीसीआई ने उन्हें तथाकथित आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में आजावीन बैन लगा दिया था तब लगतार उनके दिमाग में खुदकुशी के विचार आ रहे थे। उन्हें 2015 में हालांकि दिल्ली हाईकोर्ट की विशेष अदालत ने बरी कर दिया था। उन्होंने बताया कि वह अपनी जिंदगी में मुश्किल दौर से गुजर रहे थे और आत्महत्या तक के विचार उन्हें आ रहे थे।

श्रीसंत ने कहा, ‘ये ऐसी चीज है जिससे मैं 2013 में लगातार लड़ रहा था। ये सोच मेरे साथ बनी रहती थी, लेकिन मेरे परिवार ने मुझे संभाले रखा। मुझे परिवार के साथ ही रहना था।मुझे पता है कि उन्हें मेरी जरूरत है.ट श्रीसंत ने कहा कि वह अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के काफी अच्छे दोस्त थे। सुशांत ने 14 जून को खुदकुशी की थी। वो डिप्रेशन से जूझ रहे थे।

उन्होंने कहा, ‘इसीलिए, सुशांत की मौत ने मुझे इतना ज्यादा प्रभावित किया, और वो मेरे अच्छे दोस्त भी थे। मैं भी ऐसी ही कगार पर था लेकिन मैं लौट आया क्योंकि मुझे पता था कि इससे उन लोगों को कितना दुख होगा जो मुझे प्यार करते हैं।

खेल-कूद

VIDEO : आप भी हैं PUBG प्रेमी, तो देख लें ये Video! अब PUBG को कहना पड़ेगा Bye Bye!

Published

on

By

चीनी सामानों पर प्रतिबंध लगाने की मांग लगातार बढ़ती जा रही है। 59 चीनी मोबाइल एप्स पर प्रतिबंध लगने के बाद अब बच्चों से जुड़े चीनी गेमों को भी बन्द करने की मांग उठने लगी है। मंगलवार को सूचना प्रद्योगिकी से जुड़ी संसदीय स्थायी समिति की बैठक में मौजूद सदस्यों ने बच्चों के बीच लोकप्रिय लेकिन विवादित चीनी गेम पबजी पर प्रतिबंध लगाने की मांग की। बैठक का एजेंडा डाटा प्राइवेसी और डाटा सुरक्षा था।

इसके अलावा कुछ सदस्यों ने 59 चीनी मोबाइल एप्स पर प्रतिबंध के बावजूद देश में इस्तेमाल हो रहे चीनी ऐप पर चिंता जताई। इसमें सबसे प्रमुख तौर पर कैम स्कैनर का ज़िक्र किया गया। कैम स्कैनर मोबाइल पर कागजातों और तस्वीरों को स्कैन करने के काम आता है और 59 प्रतिबंधित मोबाइल एप्स में भी शामिल है।

सदस्यों ने विशेष तौर पर इस बात पर चिंता जताई कि इस ऐप का इस्तेमाल देश का पुलिस प्रशासन भी कर रहा है। सदस्यों की चिंता इस बात पर ज़्यादा थी कि कहीं इस एप के ज़रिए संवेदनशील जानकारी तो नहीं चुराई जा रही।

#BanPUBG #TikTokBanned #ChineseApps #BanChineseApps #BoycottChina #IndiaChinaBorder

Continue Reading

Trending