Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

दुनियाभर में तेजी से फैल रहा कोरोना वायरस, वैश्विक आंकड़ा 57 लाख के करीब पहुंचा

Published

on

नई दिल्ली। विश्व में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर अब 57 लाख के करीब पहुंच चुकी है। वहीं, इस जानलेवा बीमारी से मरने वालों की संख्या 3 लाख 55 हजार से ज्यादा हो गई है। अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी ने यह जानकारी दी है।

जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) की ओर से जारी किए गए नए आंकड़ों के मुताबिक दुनियाभर में गुरुवार सुबह तक कुल 56 लाख 90 हजार 951 लोग कोविड-19 संक्रमण से संक्रमित हुए, जिनमें से मरने वालों की संख्या 3 लाख 55 हजार 615 रही।

अमेरिका की बात करें, तो यहां महामारी से मरने वालों की संख्या भी 1 लाख के पार पहुंच गई है। देश में महामारी से संक्रमित हुए और इससे मरने वालों लोगों की संख्या दुनिया में सबसे अधिक है।

कोरोना संक्रमण से सबसे अधिक प्रभावित देश अमेरिका में कुल 1 लाख 418 मौतों के साथ ही संक्रमण के सर्वाधिक 16 लाख 99 हजार 126 मामले दर्ज किए गए हैं।

वहीं, कोविड-19 संक्रमण के 4 लाख 11 हजार 821 मामलों के साथ ब्राजील इसके बाद दूसरा सबसे प्रभावित देश है, जबकि रूस 3 लाख 70 हजार 680 मामलों के साथ तीसरे स्थान पर है।

 

अन्तर्राष्ट्रीय

एक ऐसा देश जहां पराई लड़कियों से संबंध बनाने के लिए ‘सरकार’ पैसे देती है

Published

on

By

हर देश में प्रॉस्टीटूशन यानि वैश्यावृति काफी सक्रिय तौर पर चल रहा है, फिर चाहे वो हमारा देश ही क्यों न हो। वेश्यावृति का कारोबार हमारे देश में आग की तरह फैलता जा रहा है।

कुछ देशों में इसे कानूनी घोषित कर दिया तो कही इसे गैरकानूनी तरीके से चलाया जाता है जिसे रेड लाइट एरिया बोलते हैं। लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि दुनिया में एक देश ऐसा भी है जहां कॉलगर्ल का खर्च वहां की सरकार उठाती है।

दुनिया में हर देश की सरकार अपने देश की वृत्ति को आगे बढ़ने के लिए जनता की मदद करती है, लेकिन इस देश में परै महिलाओं के साथ संबंध बनाने के लिए उसका खर्च सरकार देती है।

हम बात कर रहे हैं नीदरलैंड की जहां सरकार कॉल गर्ल्स के साथ शारीरिक संबंध बनाने के लिए पैसे देती है। जानकारी के मुताबिक, नीदरलैंड में किसी मरीज के इलाज के दौरान डॉक्टर की सलाह पर दवाओं के साथ-साथ कॉलगर्ल के साथ संबंध बनाने पर होने वाले खर्च को भी इलाज के खर्च में शामिल करने का प्रावधान है। ये बात बेहद अजीब है लेकिन सच भी है।

Continue Reading

Trending