Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

लॉकडाउन में मेयर ने जमकर की दारू पार्टी, गिरफ्तारी से बचने के लिए ताबूत के अंदर लेटा

Published

on

नई दिल्ली। पेरू से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां तंतारा कस्बे के मेयर जेमिए रोलांडो लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए पकडे गए। यही नहीं चौंकाने वाली बात ये है कि गिरफ्तारी से बचने के लिए उन्होंने कुछ ऐसा कर दिया जो पुलिस ने भी नहीं सोचा होगा।

दरअसल, मेयर अपने दोस्तों के साथ दारू पार्टी कर रहे थे। लेकिन जैसे ही पुलिस उन्हें गिरफ्तार करने के लिए पहुंची मेयर बचने के लिए अजीबोगरीब पैंतरा अपनाते हुए ताबूत में लेट गए।

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, मेयर जेमिए रोलांडो ने लॉकडाउन के नियम तोड़कर दोस्तों के साथ शराब पी। इसकी कुछ तस्वीरें भी सामने आई हैं। अधिकारियों ने बताया कि पुलिस तांत्रेरा शहर में सोमवार रात उन्हें गिरफ्तार करने पहुंची थी। वह ताबूत में लेटे थे और उन्होंने मास्क लगा रखा था।

पुलिस के मुताबिक मेयर ने अपने दोस्तों के साथ शराब पीने के लिए कर्फ्यू, सामाजिक गड़बड़ी और कानूनों का उल्लंघन किया। पुलिस ने बताय कि गिरफ्तारी के समय भी वह नशे में थे। हालांकि, यह स्पष्ट नहीं है कि वह और उसके दोस्त शराब कहां पी रहे थे.

अधिकारियों का कहना है कि जब पुलिस उन्हें गिरफ्तार करने पहुंची तो वह तुरंत ही ताबूत में लेट गए और उन्होंने उस वक्त मास्क लगा रखा था. काफी ड्रामेबाजी के बाद मेयर को गिरफ्तार कर लिया गया।

 

अन्तर्राष्ट्रीय

26/11 मुंबई हमलाः आतंकियों की जानकारी देने वाले को अमेरिका ने किया 35 करोड़ देने का ऐलान!

Published

on

By

नई दिल्ली। 26 नवंबर ये वो तारीख है जब समुद्र के रास्ते पाकिस्तान से आंतकी मुंबई में घुस आए और सैकड़ो बेगुनाहों की जान ले ली। इस आतंकी हमले को देश आज तक नहीं भुला पाया है।

हमले के बाद सेना के जवानों और पुलिस अफसरों ने अपनी जान की बाजी लगाकर कई लोगों को आतंकियों के चंगुल से छुड़ाया और आतंकियों को मार गिराया।

इन आतंकियों में से एक आतंकी अजमल कसाब जिंदा पकड़ा गया जिसे बाद में कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई। इस हमले में भारतीय ही नहीं बल्कि विदेशी नागरिकों को भी अपनी जान गंवानी पड़ी थी।

इनमें से 6 नागिरक अमेरिकी थे। अमेरिका आज भी इस हमले को नहीं भूला है। अमेरिका पहले भी मुंबई आतंकी हमले से जुड़े लोगों की जानकारी देने वालों को 35 करोड़ रुपए देने का एलान कर चुका है।

अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने  पहले ये एलान किया था कि जो भी व्यक्ति हमले की योजना बनाने या इसमें मदद करने वाले की जानकारी देगा उसे अमेरिकी सरकार द्वारा इनाम दिया जाएगा।

Continue Reading

Trending