Connect with us

नेशनल

राम मंदिर निर्माण के लिए जमीन समतल करने के दौरान मिली कई प्राचीन मूर्तियां

Published

on

लखनऊ। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का काम शुरू हो गया है। इस समय मंदिर निर्माण के लिए जमीन समतल करने का काम चल रहा है। इस दौरान वहां कुछ ऐतिहासिक अवशेष मिले हैं।

इन अवशेषों में कई पुरातात्विक मूर्तियां खंभे और शिवलिंग, आमलक, कलश और चौखट शामिल हैं। दरअसल, जन्मभूमि परिसर में राम मंदिर निर्माण के लिए तैयारियां व ट्रेंचों को भरने, समतलीकरण और लोहे की जालियों को हटाने का कार्य जोरों पर है।

कोरोना संकट को देखते हुए इन जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा जा रहा है। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि अब तक जहां-जहां खुदाई हुई है, वहां से और आसपास की जगहों से बड़ी तादाद में देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियां, पुष्प कलश, कलाकृतियां निकली हैं।

अब तक ब्लैक टच स्टोन के सात खंबे, छह रेडसैंड स्टोन के खंबे, पांच फुट के नक्काशीनुमा शिवलिंग और मेहराब के पत्थर मिले हैं। चंपत राय ने बताया कि डीएम एके झा ने इस काम की मंजूरी दी है। निर्माण कार्य के दौरान कोरोना संक्रमण के मद्देनजर सुरक्षा मानकों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। काम के दौरान मास्क लगाना और सोशल डिस्टेसिंग का सख्ती से पालन करवाया जा रहा है।

 

नेशनल

दिल्ली-एनसीआर में भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर इतनी थी तीव्रता

Published

on

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और एनसीआर में शुक्रवार रात करीब 9 बजकर 8 मिनट पर भूंकप के झटके महसूस किए गए। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 4.6 मापी गई है।

दिल्ली-एनसीआर समेत हरियाणा और उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। वहीं हरियाणा के रोहतक में भूकंप का केंद्र बताया जा रहा है।

बता दें कि इससे पहले 15 मई को दिल्ली में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। इस भूकंप का केंद्र दिल्ली के पीतमपुरा इलाके में था। इस भूकंप की तीव्रता 2.2 थी।

15 से पहले 10 मई को 3.4 तीव्रता वाली भूकंप आया था। वहीं 13 अप्रैल को 3.5 की तीव्रता वाला भूकंप आया था। जबकि 14 अप्रैल को आए भूकंप की तीव्रता रिएक्टर स्केल पर 2.7 मापी गई थी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending