Connect with us

प्रादेशिक

मायावती ने साधा बीजेपी-कांग्रेस पर निशाना, कही ये बात

Published

on

नई दिल्ली। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने प्रवासी मजदूरों को लाने में हो रही ‘बसों की राजनीति’ पर कांग्रेस और भाजपा को आड़े हाथ लिया है। उन्होंने कहा कि श्रमिकों को घर भेजने के नाम पर भाजपा व कांग्रेस घिनौनी राजनीति कर रही हैं जोकि अति दुर्भाग्यपूर्ण है।

मायावती ने बुधवार को ट्विटर के माध्यम से लिखा, “पिछले कई दिनों से प्रवासी श्रमिकों को घर भेजने के नाम पर खासकर बीजेपी व कांग्रेस द्वारा जिस प्रकार से घिनौनी राजनीति की जा रही है, यह अति-दुर्भाग्यपूर्ण है। कहीं ऐसा तो नहीं ये पार्टियां आपसी मिलीभगत से एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप करके इनकी त्रासदी पर से ध्यान बांट रही हैं?”

उन्होंने कहा, “यदि ऐसा नहीं है तो बीएसपी का कहना है कि कांग्रेस को श्रमिक प्रवासियों को बसों से ही घर भेजने में मदद करने पर अड़ने की बजाए, इनका टिकट लेकर ट्रेनों से ही इन्हें इनके घर भेजने में इनकी मदद करनी चाहिये, जो ज्यादा उचित व सही होगा।”

मायावती ने कहा, “इन्हीं सब बातों को खास ध्यान में रखकर ही बीएसपी के लोगों ने अपने सामथ्र्य के हिसाब से प्रचार व प्रसार के चक्कर में ना पड़कर पूरे देश में इनकी (प्रवासियों की) हर स्तर पर काफी मदद की है, बीजेपी व कांग्रेस पार्टी की तरह इनकी मदद की आड़ में कोई घिनौनी राजनीति नहीं की है।”

बसपा मुखिया ने कहा, “बीएसपी की कांग्रेस पार्टी को यह भी सलाह है कि यदि कांग्रेस को श्रमिक प्रवासियों को बसों से ही उनके घर वापसी में मदद करनी है अर्थात ट्रेनों से नहीं करनी है तो फिर इनको अपनी ये सभी बसें कांग्रेस-शासित राज्यों में श्रमिकों की मदद में लगा देनी चाहिए तो यह बेहतर होगा।”

प्रादेशिक

सीएम योगी ने शहीदों के परिवार को सरकारी नौकरी, पेंशन, 1 करोड़ का मुआवजा देने का किया एलान

Published

on

कानपुर। एनकाउंटर में 8 पुलिसकर्मियों की शहादत पर सीएम योगी ने दुःख जताया है। योगी ने कहा कि कानपुर में ‘कर्तव्य पथ’ पर अपना सर्वस्व न्योछावर करने वाले 8 पुलिसकर्मियों को भावभीनी श्रद्धांजलि।शहीद पुलिसकर्मियों ने जिस अपरिमित साहस व अद्भुत कर्तव्यनिष्ठा के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन किया, उ.प्र. उसे कभी भूलेगा नहीं। उनका यह बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। इसके साथ ही योगी ने शहीद पुलिसकर्मियों के परिवार को सरकारी नौकरी, असाधारण पेंशन और एक करोड़ मुआवजा देने की घोषणा की है।

बता दें कि कानपुर से सटे चौबेपुर के बिकरु गांव में शुक्रवार को तड़के पुलिस और विकास दुबे गिरोह के बीच हुए एनकाउंटर में 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। बताया जा रहा है कि विकास दुबे के पास एके-47 और अडवांस हथियार थे। मामले की जांच के लिए एसटीएफ गठित हुई है। यूपी पुलिस ने विकास दुबे का सुराग देने वाले को 50 हजार रुपये के इनाम का ऐलान भी किया है।

डीजीपी हितेश चन्द्र अवस्थी ने बताया कि विकास दुबे कानपुर का हिस्ट्रीशीटर भी हैं इसके ऊपर कई मुकदमें दर्ज हैं। इस पर दबिश डालने के लिए पुलिस बिकरू गांव पहुंची जहां पर पुलिस को रोकने के लिए इन्होंने पहले से ही जेसीबी वगैरह लगा कर रास्ता रोक रखा था। पुलिस पार्टी के पहुंचते ही बदमाशों ने छतों से पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी, जिसमें पुलिस के 8 जवान शहीद हो गए।

#CMYOGI #UTTARPRADESH #VIKASDUBEY #STF

Continue Reading

Trending