Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

तालिबान ने दिया पाकिस्तान को झटका, कश्मीर को बताया भारत का हिस्सा

Published

on

नई दिल्ली। तालिबान ने कश्मीर को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। सोमवार को तालिबान ने कहा, कश्मीर भारत का अंदरूनी मामला है और हम इस मुद्दे पर पाकिस्तान का साथ नहीं देंगे।

तालिबान ने इसके साथ ही सोशल मीडिया पर चल रहे उन तमाम दावों को भी खारिज कर दिया जिसमें कहा जा रहा था कि वह कश्मीर में पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद का हिस्सा बन सकता है। तालिबान के सियासी मोर्चे इस्लामिक एमिरेट्स ऑफ अफगानिस्तान के प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने सोमवार को ट्वीट किया, कश्मीर में जारी पाकिस्तान प्रायोजित जिहाद में तालिबान के शामिल होने की खबरें गलत हैं। कश्मीर पूरी तरह भारत का अंदरूनी मामला है और तालिबान किसी भी देश के अंदरूनी मामलों में दखल नहीं देता।

तालिबान की राजनीतिक शाखा इस्लामिक अमीरात ऑफ अफगानिस्तान के प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने सोमवार को ट्वीट किया, तालिबान के कश्मीर के जिहाद में शामिल होने को लेकर मीडिया में प्रकाशित खबरें गलत हैं…इस्लामिक अमीरात की नीति स्पष्ट है कि वह दूसरे देशों के आंतरिक मसलों में हस्तक्षेप नहीं करता है।

सोशल मीडिया पर ऐसी तमाम पोस्ट देखने को मिल रही थी जिसमें दावा किया गया था कि तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजैद ने कहा है कि भारत के साथ दोस्ती नामुमकिन है जब तक कश्मीर मुद्दा नहीं सुलझ जाता।

पोस्ट में ये भी कहा जा रहा था कि तालिबान के प्रवक्ता काबुल में सत्ता हासिल करने के बाद कश्मीर को भी छीन लेंगे। सूत्रों के मुताबिक, सोशल मीडिया पर इन रिपोर्ट्स की सच्चाई जानने के लिए जब भारत ने तालिबान से संपर्क किया तो उसने ये स्पष्टीकरण जारी किया।

भारत को बताया गया कि सोशल मीडिया पर किए जा रहे दावे फर्जी हैं और तालिबान के पक्ष को नहीं दिखाते हैं। सोशल मीडिया पर ऐसी तमाम पोस्ट देखने को मिल रही थी जिसमें दावा किया गया था कि तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजैद ने कहा है कि भारत के साथ दोस्ती तब तक नामुमकिन है जब तक कश्मीर मुद्दा नहीं सुलझ जाता।

पोस्ट में ये भी कहा जा रहा था कि तालिबान के प्रवक्ता काबुल में सत्ता हासिल करने के बाद कश्मीर को भी छीन लेंगे। सूत्रों के मुताबिक, सोशल मीडिया पर इन रिपोर्ट्स की सच्चाई जानने के लिए जब भारत ने तालिबान से संपर्क किया तो उसने ये स्पष्टीकरण जारी किया। भारत को बताया गया कि सोशल मीडिया पर किए जा रहे दावे फर्जी हैं और तालिबान के पक्ष को नहीं दिखाते हैं।

अन्तर्राष्ट्रीय

अब अमेरिका देगा चीन को झटका, टिक टॉक समेत कई एप करेगा बैन

Published

on

वाशिंगटन। भारत के बाद अमेरिका भी टिक टॉक समेत तमाम चीनी ईपीएस पर बैन लगाने की तैयारी में है। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा कि हम निश्चित रूप से चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रहे हैं। अमेरिका का ये बयान चाइनीज ऐप पर भारत में हुई कार्रवाई के 6 दिन बाद आया। टिकटॉक जैसे चाइनीज ऐप से अमेरिका भी राष्ट्रीय सुरक्षा का खतरा बता चुका है।

इससे पहले पिछले दिनों भारत सरकार ने टिक टॉक समेत 59 चाइनीज ऐप को बैन कर दिया था। इसके बाद चाइनीज कंपनियों की तरफ से सरकार से अपील की जा रही है कि वे भारतीय यूजर्स का डेटा चाइनीज सरकार के साथ शेयर नहीं कर रही थीं। टिकटॉक के सीईओ केविन मेयर ने भारत सरकार को चिट्ठी लिखकर कहा कि चाइनीज सरकार ने कभी भी यूजर्स के डेटा की मांग नहीं की है।

कंपनी लगातार सफाई दे रही है कि भारतीय यूजर्स का डेटा सिंगापुर के सर्वर में सेव हो रहा है और चीन की सरकार ना तो कभी डेटा की मांग की है और ना ही कंपनी इस रिक्वेस्ट को कभी पूरा करेगी।

#mike pompeo #china #tiktok #america

Continue Reading

Trending