Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

तालिबान ने दिया पाकिस्तान को झटका, कश्मीर को बताया भारत का हिस्सा

Published

on

नई दिल्ली। तालिबान ने कश्मीर को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। सोमवार को तालिबान ने कहा, कश्मीर भारत का अंदरूनी मामला है और हम इस मुद्दे पर पाकिस्तान का साथ नहीं देंगे।

तालिबान ने इसके साथ ही सोशल मीडिया पर चल रहे उन तमाम दावों को भी खारिज कर दिया जिसमें कहा जा रहा था कि वह कश्मीर में पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद का हिस्सा बन सकता है। तालिबान के सियासी मोर्चे इस्लामिक एमिरेट्स ऑफ अफगानिस्तान के प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने सोमवार को ट्वीट किया, कश्मीर में जारी पाकिस्तान प्रायोजित जिहाद में तालिबान के शामिल होने की खबरें गलत हैं। कश्मीर पूरी तरह भारत का अंदरूनी मामला है और तालिबान किसी भी देश के अंदरूनी मामलों में दखल नहीं देता।

तालिबान की राजनीतिक शाखा इस्लामिक अमीरात ऑफ अफगानिस्तान के प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने सोमवार को ट्वीट किया, तालिबान के कश्मीर के जिहाद में शामिल होने को लेकर मीडिया में प्रकाशित खबरें गलत हैं…इस्लामिक अमीरात की नीति स्पष्ट है कि वह दूसरे देशों के आंतरिक मसलों में हस्तक्षेप नहीं करता है।

सोशल मीडिया पर ऐसी तमाम पोस्ट देखने को मिल रही थी जिसमें दावा किया गया था कि तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजैद ने कहा है कि भारत के साथ दोस्ती नामुमकिन है जब तक कश्मीर मुद्दा नहीं सुलझ जाता।

पोस्ट में ये भी कहा जा रहा था कि तालिबान के प्रवक्ता काबुल में सत्ता हासिल करने के बाद कश्मीर को भी छीन लेंगे। सूत्रों के मुताबिक, सोशल मीडिया पर इन रिपोर्ट्स की सच्चाई जानने के लिए जब भारत ने तालिबान से संपर्क किया तो उसने ये स्पष्टीकरण जारी किया।

भारत को बताया गया कि सोशल मीडिया पर किए जा रहे दावे फर्जी हैं और तालिबान के पक्ष को नहीं दिखाते हैं। सोशल मीडिया पर ऐसी तमाम पोस्ट देखने को मिल रही थी जिसमें दावा किया गया था कि तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजैद ने कहा है कि भारत के साथ दोस्ती तब तक नामुमकिन है जब तक कश्मीर मुद्दा नहीं सुलझ जाता।

पोस्ट में ये भी कहा जा रहा था कि तालिबान के प्रवक्ता काबुल में सत्ता हासिल करने के बाद कश्मीर को भी छीन लेंगे। सूत्रों के मुताबिक, सोशल मीडिया पर इन रिपोर्ट्स की सच्चाई जानने के लिए जब भारत ने तालिबान से संपर्क किया तो उसने ये स्पष्टीकरण जारी किया। भारत को बताया गया कि सोशल मीडिया पर किए जा रहे दावे फर्जी हैं और तालिबान के पक्ष को नहीं दिखाते हैं।

अन्तर्राष्ट्रीय

पाकिस्तान में आर्मी-पुलिस आमने-सामने, गृह युद्ध जैसे हालात

Published

on

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में इस समय गृह युद्ध जैसे हालात बने हुए हैं। यहां इमरान सरकार के खिलाफ पूरा विपक्ष एकजुट है। इमरान के खिलाफ बड़ी-बड़ी सभाएं हो रही हैं। इसी बीच पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के दामाद मोहम्मद सफदर को सेना द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया था। हालांकि उन्हें कुछ देर बाद छोड़ दिया गया था। हालांकि सिंध पुलिस को इस बात की जानकारी नहीं थी। साथ ही गिरफ्तारी के दौरान सिंध पुलिस प्रमुख को कहीं घेर लिया गया था।

पाकिस्तानी सेना के इस कृत्य के बाद सिंध पुलिस और पाकिस्तानी सेना आमने सामने है। सिंध पुलिस ने कई बड़े अधिकारियों ने सेना से नाराज होकर छुट्टी पर जाने का फैसला कर लिया है। बता दें कि बीते कल नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज ने आरोप लगाया था कि उनके होटल के कमरे में घुसकर उनके पति को गिरफ्तार कर ले जाया गया। हालांकि बाद में उन्हें छोड़ दिया गया। इसके बाद बैकफुट पर आए पाकिस्तानी आर्मी चीफ बाजवा ने आदेश दिया है कि आखिर यह गिरफ्तारी क्यों की गई इसकी जांच की जाए। लेकिन मामला यहीं तक नहीं थमा है। इसके बाद पाकिस्तान के सिंध प्रांत की पुलिस और पाकिस्तानी सेना और आईएसआई के बीच अब विवाद शुरू हो चुका है।

सिंध पुलिस का इस मामले पर कहना है कि सफदर को उनकी जानकारी के बगैर गिरफ्तार किया गया था। उसकी गिरफ्तारी के दौरान सिंध पुलिस प्रमुख को कहीं घेर लिया गया था। इसके बाद पाक सेना ने ही सफदर को गिरफ्तार किया था। बता दें कि पुलिस की सेना से नाराजगी के बाद पुलिस अधिकारी व पुलिस कर्मचारी छुट्टी पर जाने लगे हैं. सिंध पुलिस के आईजी ने भी छुट्टी पर जाने का ऐलान किया। साथ ही हजारों पुलिस कर्मचारी भी छुट्टी पर चले गए हैं।

Continue Reading

Trending