Connect with us

प्रादेशिक

राजस्थान में कोरोना के 30 नए मामले, संख्या बढ़कर हुई 413

Published

on

जयपुर। राजस्थान में गुरुवार को कोरोना वायरस के 30 नए मामले सामने आए हैं। नए मरीजों में 9 तबलीगी जमात के हैं वहीं उनके उनके संपर्क में आए तीन लोग भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं साथ 12 अन्य लोग भी कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं।

इसी के साथ राज्य में कुल कोरोना पॉजिटिव लोगों की संख्या 413 हो गई है। इसकी जानकारी स्वास्थ्य अधिकारियों ने दी है। झालावाड़ में एक 9 वर्षीय लड़के सहित सात लोगों के रिपोर्ट पॉजीटिव आए हैं। लड़के ने इंदौर की यात्रा की थी।

झुंझुनू में भी गुरुवार को सात नए मामले दर्ज किए गए हैं, जिनमें से तीन तबलीगी जमात के लोगों के संपर्क में आए लोग हैं, जबकि दो जमात के सदस्य हैं। बाकी दो में से एक ने कतर और दुबई की यात्रा की थी।

टोंक में सात नए मामले सामने आए हैं, सभी तबलीगी जमात के सदस्य हैं। बांसवाड़ा में दो मामले आए हैं, जो पहले पॉजीटिव पाए गए मामले के संपर्क में आए लोग हैं।

वहीं जोधपुर में भी पहले से पॉजीटिव व्यक्ति के संपर्क में आए एक व्यक्ति का रिपोर्ट पॉजीटिव आया है, जबकि बाड़मेर में सामने आए दो मामलों की जानकारी अभी नहीं मिली है।

जयपुर में अब 129 मामले, जोधपुर में 32, झुंझुनू में 31, टोंक और भीलवाड़ा में सात-सात, बांसवाड़ा में 12, चुरू में 11, जैसलमेर में 19, भरतपुर में आठ, दौसा में छह, धौलपुर में एक, डुंगरपुर में पांच, करौली में दो, पाली में दो, सिकर में एक, उदयपुर में चार, प्रतापगढ़ में दो, नागौर में एक, कोटा में 15, झालावार में नौ और बाड़मेर में एक मामले हैं।

बाड़मेर राज्य का 24वां जिला बना, जहां गुरुवार को कोवि़ड-19 का पहला मामला दर्ज किया गया। राज्य में 17,811 नमूनों का टेस्ट किया गया है, जिनमें से 413 पॉजीटिव मामले हैं, जबकि 849 का टेस्ट प्रक्रिया में है। राज्य में अब तक छह लोगों की मौत हो चुकी है, जिनमें से दो मृतक भीलवाड़ा, बीकानेर, अलवर, जयपुर और कोटा के एक-एक व्यक्ति थे।

प्रादेशिक

यूपी के इस जिले में कोरोना ने पकड़ी रफ्तार, एक दिन में 33 नए केस आए सामने

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश का अमेठी जिला कोरोना वायरस का नया हॉटस्पॉट बनकर उभर रहा है। जिले में मंगलवार रात तक कोरोनावायरस संक्रमण के 33 नए केस सामने आए जिसके बाद यहां कुल मरीजों की संख्या 80 हो गई है। बता दें कि एक महीने पहले इस जिले में कोरोना के एक भी मामले नहीं थे।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) राजेश मोहन श्रीवास्तव ने संवाददाताओं से कहा, “कोरोना महामारी की जांच में पॉजिटिव पाए गए अधिकतर व्यक्ति पिछले कुछ हफ्तों में दूसरे राज्यों से यहां आए थे।”

उन्होंने कहा कि संक्रमितों में से कई गैर-लक्षणात्मक रहे और दूसरे राज्यों से यहां आने के चलते उन्हें परीक्षण करने के लिए कहा गया। जिला प्रशासन अब संक्रमित लोगों के संपर्क में आए लोगों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग कर रहा है। कोरोना के मरीजों को लेवल-1 अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending