Connect with us

प्रादेशिक

यूपी में कोरोना पॉजिटिव अस्पताल से फरार, मचा हड़कंप

Published

on

नई दिल्ली। देश में कोरोना का संक्रमण हर दिन तेजी से बढ़ रहा है। भारत में अब तक इस खतरनाक वायरस के 4400 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं।

लाख सख्ती के बावजूद कई जगहों से कोरोना को लेकर लापरवाही भी सामने आ रही है जो 21 दिनों के लॉकडाउन पर पानी फेर सकती है। ताजा मामला यूपी के बागपत से सामने आया है।

यहां से एक कोरोना पॉजिटिव मरीज अस्पताल के कर्मचारियों को चकमा देकर फरार हो गया। जानकारी के मुताबिक मरीज नेपाल का रहने वाला था। तीन दिन पहले उसके कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई थी। सोमवार रात वह फरार हो गया है।

अधिकारियों के मुताबिक, तबलीगी जमात से तालुक रखने वाले इस शख्स का इलाज खेकड़ा पीएचसी में चल रहा था। देर रात डॉक्टर के स्टाफ को चकमा देकर वह फरार हो गया।

इस शख्स का तीन दिन पहले टेस्ट रिपोर्ट आया था, जिसमें कोरोना की पुष्टि हुई थी। इसके बाद इसे आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। अब शख्स की तलाश की जा रही है।

प्रशासन की ओर से 5 लोगों का नमूना टेस्ट के लिए भेजा गया था, जिसमें नेपाल के रहने वाले इस शख्स में कोरोना की पुष्टि हुई थी। इसके बाद इसे कोरोना के लिए बनाए गए लेवल-1 हॉस्पिटल यानी खेकड़ा पीएचसी में शिफ्ट किया गया था. यहां उसका इलाज चल रहा था, लेकिन सोमवार रात वह चकमा देकर फरार हो गया.

उत्तर प्रदेश में कोरोना के अब तक 305 मामले सामने आए हैं, जिसमें तीन लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 21 लोग ठीक हो चुके हैं. वहीं, देशभर में मरीजों की संख्या बढ़कर 4421 हो गई है, जिसमें अब तक 114 लोगों की मौत हो चुकी है.

 

प्रादेशिक

उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज हुए कोरोना से संक्रमित, 22 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव

Published

on

देहरादून। उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज की पत्नी अमृता रावत के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद अब खुद सतपाल महाराज भी इस वायरस से संक्रमित पाए गए हैं।

यही नहीं महाराज का बेटा, बहू समेत 22 कर्मचारियों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। कैबिनेट मंत्री महाराज की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अब कैबिनेट के साथ ही कई अधिकारियों को भी क्‍वारंटाइन किए जाने की संभावना है।

कैबिनेट मंत्री महाराज 29 मई को कैबिनेट की बैठक में शामिल हुए। सरकार के प्रवक्‍ता और कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि अब स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की जो भी गाइडलाइन होगी, मंत्री और अधिकारी उसका अनुपालन करेंगे।

रिपोर्ट सार्वजनिक होते ही राज्य में हड़कंप मच गया है क्योंकि शुक्रवार को सचिवालय में आयोजित कैबिनेट बैठक में सतपाल महाराज भी शामिल हुए थे और इस बैठक में स्वयं मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी शामिल थे। इतना ही नहीं महाराज ने इसके बाद पर्यटन विभाग की बैठक में भी शिरकत की थी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending