Connect with us

प्रादेशिक

राजस्थान में कोरोना के 8 और नए मामले आए सामने, 6 तब्लीगी जमात के

Published

on

जयपुर। राजस्थान में कोरोना के 8 नए मामले सामने आए हैं। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक नए संक्रमितों में से 6 तब्लीगी जमात के सदस्य हैं। इसी के साथ राज्य में कुल  संक्रमितों की संख्या 274 हो गई है।

बता दें कि रविवार देर रात कोरोना वायरस से कोटा में एक 60 वर्षीय बुजुर्ग ने दम तोड़ दिया। राज्य में अब तक कोररोना से संख्या 6 हो गई है। अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह ने कहा कि मृतक को कोटा के एमबीएस अस्पताल में निमोनिया, बुखार और खांसी की शिकायत के साथ भर्ती कराया गया था।

उन्होंने कहा, रोगी का कोई संपर्क और यात्रा इतिहास का पता नहीं चला है, लेकिन इसी क्षेत्र में कुछ तब्लीगी सदस्यों की पहचान की गई है। हालांकि इन सभी की रिपोर्ट नेगेटिव पाई गई है। इसलिए संभवत: वह किसी के संपर्क में आकर ही संक्रमित हुए होंगे, लेकिन परिवार इस बात से इनकार कर रहा है। इससे पहले दो मौतें भीलवाड़ा में हुई थी, जबकि अलवर, बीकानेर और जयपुर में एक-एक मौत हो चुकी है।

इस बीच कोरोना के नए मरीजों में डूंगरपुर से दो की पहचान हुई है। इनमें पहले से ही कोरोना ग्रस्त रोगी का एक 11 वर्षीय पोता और एक 22 वर्षीय तब्लीगी जमाती पुरुष शामिल हैं, जो गुजरात के गोधरा से आया था।

सिंह ने कहा कि पांच नए मरीज झुंझुनू से सामने आए हैं, जो सभी तब्लीगी जमात के सदस्य हैं, जिनकी उम्र 29 से 65 वर्ष के बीच है। जयपुर 92 रोगियों के साथ राज्य में प्रमुख हॉटस्पॉट बना हुआ है, इसके बाद 27 सदस्यों के साथ भीलवाड़ा है, जबकि 23 मामलों के साथ झुंझुनू तीसरा प्रमुख हॉटस्पॉट बन गया है। झुंझुनू जिले में पिछले कुछ दिनों में आश्चर्यजनक रूप से कोरोना मामलों की संख्या में अभूतपूर्व वृद्धि हुई है।

इसी तरह टोंक में भी 18 मामले सामने आ चुके हैं। रविवार को कोटा में भी पहला कोरोना पॉजिटिव मामला सामने आया, जो वायरस से प्रभावित होने वाला राज्य का 22 वां जिला बन गया।

प्रादेशिक

बिहार में कोरोना के लगातार बढ़ रहे मामले, मधुबनी के डीएम पाए गए संक्रमित

Published

on

पटना। बिहार में कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता चला जा रहा है। राज्य में अब तक 3 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। राज्य के मधुबनी जिले में भी कोरोना के कई मामले सामने आए हैं।

अब जिले के डीएम भी इस खतरनाक वायरस की चपेट में आ गए हैं। डीएम की रिपोर्ट पॉजीटिव आने के बाद अब जिला समाहरणालय समेत अनुमंडल के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट किया जाएगा।

जिला आपदा प्रबंधन शाखा की ओर से जारी लेटर में कहा गया है कि मधुबनी जिले में विगत दिनों से कोरोना संक्रमण में काफी बढ़ोतरी हुई है। इसके लिए समाहरणालय मधुबनी एवं अनुमंडल कार्यालय, सदर मधुबनी में कार्यरत सभी पदाधिकारी और कर्मचारी की भी कोरोना जांच की आवश्यकता महसूस की जा रही है।

बता दें कि बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। बीते 24 घंटे में राज्य में 140 नए मामले सामने आए हैं जिससे यहां कुल कोरोना से पीड़ित लोगों की संख्या 3010 हो गई है।

बिहार में इन दिनों हजारों की संख्या में प्रवासी मजदूर रोजाना आ रहे हैं और प्रखंडों में स्थित क्वारनटीन सेंटर में उन्हें रखा जा रहा है. इसकी पूरी मॉनिटरिंग डीएम कर रहे हैं।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending