Connect with us

प्रादेशिक

कोरोना से जंग में आगे आईं मायावती, सीएम योगी ने की तारीफ

Published

on

लखनऊ। राजनीतिक रूप से एक-दूसरे पर प्रहार करने वाले राजनीतिक दल कोरोनावायरस के संक्रमण से निपटने के लिए एकजुट दिख रहे हैं। संक्रमण से निपटने के अच्छे प्रयासों की सराहना भी कर रहे हैं।

बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती की बसपा के सभी विधायकों से एक-एक करोड़ रुपया की मदद देने की अपील पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बसपा मुखिया को धन्यवाद कहा है।

बसपा मुखिया की इस अपील पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती को धन्यवाद दिया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर पूरा देश इस महामारी के खिलाफ एकजुट होकर लड़ रहा है। यहां पर राजनैतिक पूर्वाग्रह से ऊपर उठकर देश की इस लड़ाई में सहभागी बनने वाले महानुभावों, सुधीजनों और संगठनों का यह दायित्व बनता है कि वे भी इस लड़ाई में सहभागी बनें।

बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट कर अपनी पार्टी के सभी विधायकों से मदद की अपील की है। उन्होंने कहा कि सभी विधायक कोरोना महामारी से बचाव के लिए अपनी निधि से एक-एक करोड़ रुपया देने की अपील की है।

उन्होंने लिखा है कि देश भर में कोरोनावायरस की महामारी के प्रकोप के मद्देनजर खासकर उत्तर प्रदेश के बसपा के सभी विधायकों से भी अपील है कि वे भी पार्टी के सभी सांसदों की तरह अपनी विधायक निधि से कम से कम एक-एक करोड़ रुपये अति जरूरतमंदों की मदद हेतु जरूर दें।

प्रादेशिक

सीएम योगी बोले, कोरोना की रोकथाम के लिए लखनऊ, कानपुर व मेरठ के लिए विशेष रणनीति बनाएं अधिकारी

Published

on

लखनऊ। यूपी में कोरोना के मामलों को देखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को अपने सरकारी आवास पर एक उच्चस्तरीय बैठक करते हुए अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने लखनऊ , कानपुर नगर और मेरठ में कोविड-19 के सम्बन्ध में विशेष रणनीति बनाकर कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने कहा कि टेस्टिंग और सर्विलांस जितना सुदृढ़ होगा, कोरोना के प्रसार को रोकने में उतनी ही अधिक सफलता मिलेगी। योगी ने मुख्य सचिव को निर्देश दिए कि माइक्रो कन्टेनमेन्ट जोन, टेस्टिंग और सर्विलांस के सम्बन्ध में निरन्तर फीडबैक लेते हुए उचित कार्रवाई करें। कोविड की रोकथाम के लिए लखनऊ , कानपुर नगर व मेरठ के लिए विशेष रणनीति बनाई जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दर को नियंत्रित करने में सफलता मिली है। पिछले एक सप्ताह में सक्रिय कोरोना के मामलों की संख्या में काफी कमी आई है, यह एक अच्छा संकेत है और ये दर्शाता है कि राज्य सरकार की कोविड-19 के प्रति अपनाई गई रणनीति कारगर रही है। कोविड-19 नियंत्रण सम्बन्धी कार्य सक्रियता के साथ निरन्तर जारी रखें जाएं। उन्होंने फोकस्ड टेस्टिंग किए जाने पर बल देते हुए कहा कि कोविड बेड्स की संख्या में बढ़ोतरी सुनिश्चित की जाए।

Continue Reading

Trending