Connect with us

नेशनल

अब घर बैठे कराएं कोरोना वायरस की जांच, ये कंपनी दे रही सुविधा

Published

on

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के मामले हर दिन के साथ दुनिया भर में बढ़ते चले जा रहे हैं। फिलहाल इसकी कोई वैक्सीन इजाद नहीं हो सकी है। लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग और ज्यादा से ज्यादा लोगों की जांचकर इस वायरस पर काबू पाया जा सकता है।

यहीं कारण है कि कुछ ही समय में Corona Test Kit की डिमांड तेजी से बढ़ी है। इस बीच Practo ने कोरोना को लेकर बड़ा ऐलान किय है। प्रोक्टो ने कोरोना टेस्ट (Covid-19) कराने के लिए अब ऑनलाइन सुविधा शुरू की है। कंपनी ने इसके लिए थायरोकेयर के साथ पार्टनर्शिप किया है।

बंगलुरू की इस कंपनी ने कहा है कि थायरोकेयर के साथ मिल कर Covid-19 डिटेक्शन टेस्ट किए जा रहे हैं और इसे भारत सरकार ने अप्रूव किया है। इसके साथ ही इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च यानी ICMR ने भी इसे अप्रूवल दिया है।

Practo ने कहा है, ‘फिलहाल मुंबई के लोगों के लिए टेस्ट ऑनालइन उपलब्ध है और जल्द ही इसे पूरे देश के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। इसके लिए डॉक्टर का वैलिड प्रेसक्रिप्शन की जरूरत होगी और टेस्ट रिक्विजिशन फॉर्म फिल करना होगा जिसे फिशियन साइन करेंगे. टेस्टिंग के दौरान फोटो आईडी कार्ड की भी जरूरत होगी’

Covid-19 टेस्ट को प्रैक्टो की वेबसाइट से 4,500 रुपये में बुक किया जा सकता है। बुकिंग के बाद पेशेंट के सैंपल के लिए घर पर ही रिप्रेजेंटेटिव भेजे जाएंगे जो सैंपल कलेक्ट करेंगे।

कंपनी ने कहा है कि सैंपल कलेक्शन के लिए भेजे गए रिप्रेजेंटेटिव ICMR द्वारा जारी किए घए सभी गाइडलाइन का पालन करेंगे। टेस्टिंग लिए स्वैब वायरल ट्रांसपोर्ट मीडियम के जरिए कलेक्ट किए जाएंगे। इसे कोल्ड चेन में थायरोकेयर लैबोरेटरी भेजा जाएगा जिसे Covid-19 टेस्टिंग के लिए चुना गया है।

कंपनी ने कहा है कि Covid-19 का टेस्ट रिजल्ट वेबसाइट पर सैंपल कलेक्शन के 24-48 घंटे के अंदर जारी कर दिया जाएगा। प्रैक्टो के चीफ हेल्थ स्ट्रैटिजी ऑफिसर डॉ. ऐलेक्जेंडर कुरूविला ने कहा है, ‘वाइडस्प्रेड टेस्टिंग COVID-19 के प्रिवेंशन के लिए क्रटिकल है। जिसे भी कोरोना के लक्षण दिख रहे हैं वो इसकी टेस्टिंग करा सकते हैं’

डॉ. ऐलेक्जेंडर ने ये भी कहा है कि सरकार लगातार लैब सेंटर को बढ़ाने का काम कर रही है। प्रैक्टो ने इसके लिए थायरोकेयर के साथ पार्टनर्शिप की है ताकि इस टेस्ट के ऐक्सेस में कोई समस्या न हो।

इस लिंक पर क्लिक करके आप Practo की वेबसाइट पर Covid-19 टेस्ट पैकेज बुक करा सकते हैं और इसके बारे में ज्यादा जानकारी ले सकते हैं.। इस तरह की जानकारी आपको थायरोकेयर की वेबसाइट पर भी मिल जाएंगी।

 

नेशनल

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी ये अच्छी खबर

Published

on

नई दिल्ली। लॉकडाउन के चौथे चरण में देश में कोरोना वायरस के मामले में तेजी से इजाफा हो रहा है। हर दिन भारत में 6 हजार से ज्यादा केस सामने आ रहे हैं। भारत में अब तक 1.5 लाख से भी ज्यादा कोरोना के मामले सामने आ चुके हैं।

वहीं मरने वालों की संख्या 4 हजार के पार चली गई है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखकर लोग भी काफी चिंतित हैं। इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक राहत की खबर भी दी है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक दुनिया के अन्य देशों के मुकाबले भारत में कोरोना रिकवरी रेट ज्यादा है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को बताया कि मार्च के महीने में देश में कोरोना का रिकवरी दर जो 7 फीसदी थी वो अब 41.6 फीसदी हो चुकी है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि देश में 60 हजार 490 लोग अब तक ठीक हो चुके हैं। मार्च में जो रिकवरी दर 7 फीसदी थी, तीसरा लॉकडाउन शुरू करने पर ये 26 फीसदी के करीब पहुंची और आज ये 41.6 फीसदी हो चुकी है।

उन्होंने कहा कि देश में जो कंफर्म केस आए हैं उसमें से मृत्यु दर पूरी दुनिया में भारत में सबसे कम है। देश में ये 2.8 फीसदी हो चुकी है। कोरोना से पूरी दुनिया लड़ रही है। अगर दुनिया में 69.9 केस प्रति लाख जनसंख्या रिपोर्ट हुए हैं तो भारत में 10.7 केस प्रति लाख जनसंख्या रिपोर्ट हुए हैं।

लव अग्रवाल ने कहा कि स्पेन में 504 केस प्रति लाख जनसंख्या रिपोर्ट हो रहे हैं। बेल्जियम में ये 499 है। अमेरिका में 486 केस प्रति लाख जनसंख्या रिपोर्ट हो रहे हैं। लव अग्रवाल ने कहा कि दुनिया में कोरोना की 6.4 फीसदी मृत्यु दर है। भारत उन देशों में रहा है जहां ये सबसे कम है। उन्होंने कहा कि भारत में ये 2.87 फीसदी रहा है। कुछ देशों में ये 19.9 फीसदी, 16.3 फीसदी और 14 फीसदी है।

 

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending