Connect with us

नेशनल

लॉकडाउन के बीच दिल्ली सरकार ने बेघर लोगों को दिया नया अस्थायी आशियाना

Published

on

photo -ani

21 दिनों के लॉकडाउन के बीच दिल्ली सरकार ने स्कूलों को फंसे व बेघर लोगों और मजदूरों के लिए अस्थायी तौर पर शेल्टर होम में तब्दील कर दिया है। इस अस्थायी घरों के हर कमरे में सोशल डिस्टेंसिंग का खास ध्यान रखा गया है।

स्कूलों के कमरों में सिर्फ 5-5 लोगों के रहने दिया जा रहा है। इन शेल्टर होम में आने वाले लोगों को तीनों टाइम खाना दिया जाएगा। इसके साथ ही जरूरतमंद लोगों तक खाना पहुंचाने के लिए दिल्ली के गुरुद्वारा बंगला साहिब में बड़े स्तर पर खाना भी तैयार किया जा रहा है।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने घोषणा की थी कि सरकारी राशन की दुकानों से राशन लेने वालों को अगले महीने के लिए 50 प्रतिशत अतिरिक्त राशन मिलेगा। इसी को देखते हुए लॉकडाउन के मद्देनजर दिल्ली सरकार ने अप्रैल महीने के लिए राशन अभी से बंटवाना शुरू कर दिया है।

मन की बात : पीएम मोदी ने किया डॉक्टरों का धन्यवाद, लोगों से पूछा हाल

नेशनल

देशवासियों से बोले पीएम मोदी- खुल गया है देश, ज्यादा सतर्क रहें

Published

on

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को देशवासियों को रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ के जरिए संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि पिछली बार जब मैंने आपसे मन की बात की थी, तब यात्री ट्रेनें बंद थीं, बसें बंद थीं, हवाई सेवा बंद थी।

इस बार, बहुत कुछ खुल चुका है। श्रमिक स्पेशल ट्रेन चल रही हैं, अन्य स्पेशल ट्रेनें भी शुरू हो गई हैं। तमाम सावधानियों के साथ, हवाई जहाज उड़ने लगे हैं, धीरे-धीरे उद्योग भी चलना शुरू हुआ है, यानी अर्थव्यवस्था का एक बड़ा हिस्सा अब चल पड़ा है, खुल गया है। ऐसे में, हमें और ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है।

अपने संबोधन में उन्होंने आगे कहा कि देश में, सबके सामूहिक प्रयासों से कोरोना के खिलाफ लड़ाई बहुत मजबूती से लड़ी जा रही है। हमारी जनसंख्या ज़्यादातर देशों से कई गुना ज्यादा है, फिर भी हमारे देश में कोरोना उतनी तेजी से नहीं फैल पाया, जितना दुनिया के अन्य देशों में फैला। देश में सबके सामूहिक प्रयासों से कोरोना के खिलाफ लड़ाई बहुत मजबूती से लड़ी जा रही है। हमारी जनसंख्या कई देशों से ज्यादा है फिर भी हमारे देश में कोरोना उतनी तेजी से नहीं फैल पाया, जितना दुनिया के अन्य देशों में फैला।

पीएम ने आगे कहा कि कोरोना से होने वाली मृत्यु दर भी हमारे देश में काफी कम है। जो नुकसान हुआ है, उसका दु:ख हम सबको है, लेकिन जो कुछ भी हम बचा पाएं हैं, वो निश्चित तौर पर देश की सामूहिक संकल्पशक्ति का ही परिणाम है।

बता दें कि पिछल कुछ दिनों में भारत में कोरोना वायरस की रफ्तार में तेजी आई है। कुछ दिनों से हर दिन 7-8 हजार मामले सामने आ रहे हैं। वहीं, अगर कुल संक्रमित लोगों की बात करें तो यह आंकड़ा अब 1 लाख 83 हजार के पार चली गई है। देश में इस खतरनाक वायरस से अब तक 5164 लोगों की मौत हो चुकी है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending