Connect with us

प्रादेशिक

कांग्रेस ने जारी की लिस्ट, बताया ज्योतिरादित्य सिंधिया को 18 साल में क्या-क्या दिया

Published

on

नई दिल्ली। दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने होली के दिन कांग्रेस पार्टी से 18 साल पुराना नाता तोड़ लिया। सिंधिया के इस ऐलान के बाद मध्य प्रदेश में सियासी संकट और अधिक गहरा गया है।

जानकारी के मुताबिक सिंधिया के पार्टी छोड़ने के बाद 22 विधायकों ने भी कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। अगर विधानसभा अध्यक्ष इन इस्तीफों को मंजूर करते हैं तो मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ जाएगी।

ताजा समीकरण के मुताबिक अगर बागी विधायक पार्टी से अलग होते हैं तो सरकार बनाने के जादुई आंकड़े से कांग्रेस पिछड़ सकती है। हालांकि सियासी संकट के बावजूद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री लगातार बहुमत साबित करने की बात कह रहे हैं।

ज्योतिरादित्य सिंधिया के पार्टी छोड़ने के बाद कांग्रेस पार्टी भी लगातार उनपर तीखे हमले कर रही है। कांग्रेस पार्टी के कुछ नेताओं ने तो उन्हें गद्दार तक कह दिया।

सूत्रों के मुताबिक ज्योतिरादित्य सिंधिया बुधवार को बीजेपी में शामिल हो जाएंगे। रिपोर्ट्स के मुताबिक बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा की उपस्थिति में सिंधिया पार्टी की सदस्यता ग्रहण करेंगे।

इस बीच कांग्रेस पार्टी लगातार सिंधिया पर निशाना साध रही है। कांग्रेस ने बुधवार को ट्वीट कर एक लिस्ट जारी की। लिस्ट में कांग्रेस ने बताया कि 18 सालों में पार्टी ने उन्हें क्या-क्या दिया।

कांग्रेस ने ट्वीट की ये लिस्ट

17 साल सांसद बनाया

2 बार केंद्रीय मंत्री बनाया

मुख्य सचेतक बनाया

राष्ट्रीय महासचिव बनाया

यूपी का प्रभारी बनाया

कार्यसमिति सदस्य बनाया

चुनाव अभियान प्रमुख बनाया

50+ टिकट, 9 मंत्री दिए

यानी सिंधिया गुट की तरफ से जो आत्मसम्मान और पर्याप्त सम्मान न दिए जाने के जो आरोप लगाए जाते रहे हैं, उन पर कांग्रेस ने बाकायदा लिस्ट देकर जवाब दिया है।

साथ ही कांग्रेस ने यह भी पूछा है कि इतना कुछ देने के बावजूद भी मोदी और शाह की शरण में सिंधिया क्यों चले गए। ट्वीट के साथ एक फोटो भी शेयर की जिसमें दिखाया गया है कि ज्योतिरादित्य ने पार्टी के साथ विश्वासघात किया है।

 

प्रादेशिक

शादी के 9 दिन बाद ही मारा गया अमर दुबे, विकास दुबे का था दाहिना हाथ

Published

on

कानपुर। उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में एसटीएफ के हाथों ढेर हुए विकास दुबे के दाहिने हाथ अमर दुबे की शादी 29 जून को ही हुई थी। बताया गया है कि अमर दुबे की शादी तय हो गई लेकिन उसके आपराधिक इतिहास का पता चलने के बाद लड़की वालों ने इनकार कर दिया था। इसपर विकास दुबे बीच में आ गए थे और लड़की वालों पर शादी का दबाव डाला था। इसके बाद विकास ने लड़की वालों को बिकरू गांव में घर पर ही बुलाकर 29 जून को अमर की शादी कराई थी।

एसटीएफ ने मुठभेड़ में अमर दुबे को किया ढेर

कानपुर गोलीकांड में शामिल विकास दुबे के दाहिने हाथ अमर दुबे को पुलिस ने मुठभेड़ में ढेर कर दिया है। अमर दुबे पर 25 हजार रु का इनाम था। वारदात के पांच दिन के अंदर ही पुलिस ने उसे ढेर करने में सफलता पाई है। अमर दुबे की लाेकेशन मौदहा के आसपास मिली थी। हमीरपुर पुलिस व एसटीएफ की चेकिंग के दौरान अमर दुबे ने पुलिस पर फायरिंग की। जवाबी कार्यवाई में वो ढेर हो गया। अमर दुबे के पास से ऑटोमैटिक गन व कई हथियार मिले है। कहा जा रहा है कि इसके बाद विकास दुबे कमजोर पड़ गया है और वह किसी भी समय हरियाणा या दिल्ली की कोर्ट में सरेंडर कर सकता है।

पुलिस को अमर के उस इलाके में छिपे होने का संदेह पहले से था क्योंकि उसकी कार औरैया के पास लावारिस मिली थी। पुलिस को अनुमान था कि विकास, अमर के साथ औरैया के चंबल के रास्ते मध्य प्रदेश भागा होगा या बीच में ही कहीं छिपा होगा। पुलिस उस इलाके में सख्त चौकसी कर रही थी। अमर के बुंदेलखंड में होने की सूचना पुलिस को लगी। जिस पर पुलिस ने वहां अमर की घेराबंदी कर ली। इसके बाद यूपी पुलिस व एसटीएफ की संयुक्त कार्यवाई में वो ढेर हो गया।

#vikasdubey #amardubey #marriage #uppolice

Continue Reading

Trending