Connect with us

प्रादेशिक

निर्भया केसः 20 मार्च को भी नहीं होगी दोषियों को फांसी, एपी सिंह ने किया बड़ा खुलासा

Published

on

नई दिल्ली। करीब 8 साल से चल रहे निर्भया केस में सभी दोषी मौत के बहुत नजदीक हैं। पटियाला हाउस कोर्ट द्वारा नया डेथ वारंट जारी करने के बाद दोषियों के वकील एपी सिंह ने बड़ा दावा किया है। ए.पी सिंह के मुताबिक  दोषियों के पास अभी भी कानूनी विकल्प बचे हैं इसलिए उन्हें 20 मार्च को फांसी नहीं हो सकती है।

एपी सिंह के मुताबिक अक्षय की ओर से दोबारा दया याचिका राष्ट्रपति के पास भेजी गई है। पहली याचिका में कुछ कमियां थीं, लेकिन अब उसमें सुधार कर उसे फिर से भेज दिया है। वहीं जेल प्रशासन अक्षय की दया याचिका को लेकर काफी टाल मटोल कर रहा है।

कोर्ट में सुनवाई के दौरान एपी सिंह ने बृहस्पतिवार को बताया कि उसने अक्षय की 377 पेज की दया याचिका 25 फरवरी को जेल प्रशासन को दी थी लेकिन जेल प्रशासन ने दया याचिका के साथ क्या किया इस बारे में उनके पास कोई जवाब नहीं है। इस बारे में कोई जवाब नहीं मिलने पर उसने 29 फरवरी को राष्ट्रपति के पास याचिका भेजी। वहां से भी इस संबंध में कोई जानकारी नहीं मिली है।

एपी सिंह ने बताया कि बुधवार को पवन की दया याचिका खारिज कर दी गई। उसके अगले ही दिन जेल प्रशासन डेथ वारंट के लिए अदालत पहुंच गया। क्या वह मौत के साये में दया याचिका खारिज होने के खिलाफ अदालत में गुहार लगाएगा। उन्होंने बताया कि वह शुक्रवार को जेल में पवन से मुलाकात कर दया याचिका खारिज करने के खिलाफ अपील दायर करेंगे।

इसके अलावा उन्होंने कहा कि जब मानवाधिकार आयोग से दोषियों की मानसिक स्थिति जांच की मांग की जा रही है तो जेल प्रशासन इसे देने से इंकार कर रहा है। इन सब मुद्दों को लेकर वह अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे और दोषियों की सजा पर रोक लगवाने की कोशिश करेंगे।

प्रादेशिक

कैदी निकला कोरोना पॉजिटिव, महिला जज समेत 11 लोग हुए क्वारंटीन

Published

on

नई दिल्ली। हरियाणा के फतेहाबाद जिले के टोहाना इलाके के एक शख्स की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद महिला महिला जज समेत 11 लोगों को क्वारंटीन कर दिया गया है।

दरअसल, यह शख्स छेड़छाड़ का आरोपी था और हिसार के केंद्रीय कारागार में बंद किया गया था। उसको पेशी के लिए कोर्ट में पेश किया गया था। बता दें कि हिसार में कोरोना वायरस के 8 नए मामले सामने आए हैं, जिनमें से एक मामला केंद्रीय कारागार, एक कुम्भा, एक मामला ढाणा खुर्द और पांच मामले आदमपुर क्षेत्र में सामने आए हैं।

इसके साथ ही हिसार जिले में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 37 हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग रोजाना हिसार जिले में 250 लोगों की स्क्रीनिंग कर रही है।

इन कोरोना पॉजिटिव मरीजों के संपर्क में आने वाले लोगों को भी चिंहित किया जा रहा है। पिछले तीन दिनों से लगातार हिसार जिले में कोरोना मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है, जिससे जिला प्रशासन की मुश्किल बढ़ गई है।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending