Connect with us

प्रादेशिक

निर्भया केसः एपी सिंह ने चली ऐसी चाल, फिर रुक सकती है चारों की फांसी

Published

on

नई दिल्ली। निर्भया के दोषियों के वकील एपी सिंह ने एक बार फिर चारों दरिंदों को बचाने के लिए बड़ी चाल चली है। ए.पी सिंह ने फांसी की तारीख टालने के लिए पहले बड़ी ही चालाकी से पवन का केस बीच में छोड़ दिया फिर जब उसे  दूसरा वकील दिया गया तो पवन ने उससे बात नहीं की जिसकी वजह से काफी समय बर्बाद हुआ।

अब जब सभी दोषियों को फांसी देने में बस तीन दिन बचे हैं तो एपी सिंह ने दोबारा पवन के वकील बनकर क्यूरेटिव याचिका दाखिल कर दी है। आपको बता दें कि पवन के पास क्यूरेटिव पिटीशन दाखिल करने का कानून विकल्प बचा था।

एपी सिंह के इस नई चाल के बाद माना जा रहा है कि अदालत की ओर से तीसरी बार जारी किया गया डेथ वारंट एक बार फिर रद हो सकता है।

अब देखना यह होगा कि निर्भया के दोषियों की नई चाल से उनकी फांसी रुकती है या अदालत द्वारा तय तारीख पर निर्भया को इंसाफ मिलता है।

प्रादेशिक

महाराष्ट्र में बुजुर्ग ने रोड किनारे तड़प तड़पकर तोड़ दिया दम, नहीं मिली एम्बुलेंस

Published

on

मुंबई। महाराष्ट्र के मुंबई से एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक बुजुर्ग ने इलाज नहीं मिलने के चलते सड़क पर ही तड़पकर दम तोड़ दिया। बुजुर्ग कई घंटों तक दीवार के सहारे तड़पता रहा लेकिन एम्बुलेंस नहीं आई। जिस कारण उनकी मौत हो गई। घटना दहिसर इलाके की है। भाजपा नेता किरीट सोमैया ने ट्विटर पर इसका वीडियो शेयर हुए लिखा कि दहिसर के शांति नगर में दो और लोगों की सड़क पर मौत हो गई। उन्हें न तो एम्बुलेंस मिली और न इलाज।

यहां एक बुजुर्ग को सांस लेने में दिक्कत थी। सुबह 11:30 बजे पुलिस और बीएमसी को जानकारी देकर मदद मांगी गई। दोपहर 3:30 बजे इस व्यक्ति की मौत हो गई। पुलिस और बीएमसी ने इस घटना की पुष्टि की है। वीडियो में नजर आ रहा है कि एक बुजुर्ग दीवार के सहारे बैठे हुए हैं। उन्हें सांस लेने में दिक्कत आ रही है। वो तड़पते दिख रहे हैं।

बता दें कि कुछ दिन पहले पुणे में भी ऐसी ही घटना सामने आई थी। यहां एक बुजुर्ग ने एम्बुलेंस के इंतजार में कुर्सी पर बैठे बैठे ही दम तोड़ दिया था।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending