Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

चीन में कोरोना वायरस का कहर जारी, मरने वालों की संख्या 2000 के पार पहुंची

Published

on

नई दिल्ली। चीन में कोरोनवायरस (कोविड -19) से बुधवार को मरने वालों की संख्या 2,000 के पार पहुंच गई। वहीं, कन्फर्म मामलों की संख्या 74,185 हो गई है। चीन के स्वास्थ्य अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने अपनी दैनिक रिपोर्ट में कहा कि कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या 2,004 हो गई है। एनएचसी ने कहा कि कोरोनोवायरस संक्रमण के 1,749 नए मामलों की पुष्टि की हुई है।

नई मौतों में से, सबसे बुरी तरह से प्रभावित हुबेई प्रांत में 132 और हेइलोंगजियांग, शानदोंग, गुआंगदोंग और गुइझोऊ में एक-एक की मौत हुई है।

1,185 और नए संदिग्ध मामले सामने आए हैं। मंगलवार को 236 रोगी गंभीर रूप से बीमार हो गए, जबकि 1,824 लोगों को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, आयोग ने कहा कि 11,977 मरीजों की हालत गंभीर बनी हुई है और 5,248 लोगों के वायरस से संक्रमित होने का संदेह है।

बुधवार की सुबह 1,693 नए मामलों और 132 नई मौतों के साथ, हुबेई का कोरोनोवायरस से सबसे अधिक प्रभावित होना जारी है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने कहा कि 1,824 रोगियों को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के प्रमुख ट्रेडोस एडहैनोम गेब्रेइसस ने मंगलवार को ब्रीफिंग के दौरान बताया कि विशेषज्ञ सूचना एकत्र करने और चीन के अधिकारियों को मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए चीन में हैं। मिशन के हिस्से के रूप में टीम वुहान की यात्रा कर सकती है।

 

अन्तर्राष्ट्रीय

कोरोना वायरस ने ले ली आजम खान की जान, अस्पताल में तोड़ा दम

Published

on

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में तबाही मचा दी है। कई विकसित देश इसके आगे  बेबस नजर आ रहे हैं। चीन से निकला वायरस अब पूरी दुनिया में फैल चुका है।

भारत के साथ पाकिस्तान मे भी यह वायरस तेजी से फैल रहा है। इस बीच पाकिस्तान से एक बड़ी खबर सामने आई है। कोरोनावायरस की वजह से पाकिस्तान के महान स्क्वैश खिलाड़ी आजम खान का 95 साल की उम्र में निधन हो गया है।

जियो टीवी की रिपोर्ट को मुताबिक, 1959 से 1962 तक लगातार चार बार ब्रिटिश ओपन का खिताब जीतने वाले आजम को पिछले सप्ताह कोरोनावायरस से पीड़ित पाया गया था। उन्होंने शनिवार को यहां इलिंग अस्पताल में अंतिम सांस ली।

60 के दशक में ब्रिटेन में स्थानांतिरत हुए आजम दशकों तक स्क्वैश में राज करने वाले खानवंश का हिस्सा थे। उन्हें इस खेल के सर्वकालिक महान खिलाड़ियों में गिना जाता है। उन्होंने 1962 में सबसे मुश्किल अमेरिका ओपन भी अपने नाम किया था।

चोट और 1962 में हुई बेटे की मौत के बाद हालांकि उन्होंने खेलना छोड़ दिया था। दो साल बाद वह अपनी चोट से उबरे लेकिन अपने बेटे की मौत के सदमे से नहीं उबर पाए।

उनके बड़े भाई हाशिम खान ब्रिटिश ओपन जीतने वाले पाकिस्तान के पहले खिलाड़ी थे। उन्होंने 1951 में यह खिताब जीता था। पाकिस्तान में अभी तक कोरोनावायरस के 1,600 मामले सामने आ चुके हैं जबकि 16 लोग अपनी जान से हाथ धो बैठे हैं।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending