Connect with us

प्रादेशिक

कल केजरीवाल लेंगे शपथ, अन्ना को अब तक नहीं मिला न्योता

Published

on

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के विधानसभा चुनाव में हुए आम आदमी पार्टी (आप) ने 62 सीटों के साथ 2015 की तरह एक बार फिर प्रचंड जीत हासिल की।

इस जीत के बाद केजरीवाल रविवार को तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे। शपथग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई हस्तियों को आमंत्रित किया गया है लेकिन सबके मन में सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या अन्ना हजारे इस बार अरविंद केजरीवाल के शपथग्रहण सामरोह में आएंगे या नहीं?

आपको बता दें कि पहली बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने से पहले अरविंद केजरीवाल ने अन्न हजारे को समारोह में आमंत्रित किया था। उस दौरान अन्ना ने स्वास्थ्य मुद्दों का हवाला देते हुए शपथ समारोह में शामिल नहीं होने की बात कही थी। सूत्रों के अनुसार केजरीवाल ने अन्ना को फोन कर आने के लिए कहा लेकिन उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया।

तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ के बारे में पूछने पर अन्ना ने बताया कि इस बार कोई निमंत्रण नहीं मिला है। निर्भया मामले में दोषियों को फांसी देने में हुई देरी के खिलाफ गांधीवादी 20 दिसंबर से मौनव्रत पर हैं। दोषियों को फांसी दिए जाने के बाद ही इसे तोड़ेंगे। अन्ना के सचिव ने कहा कि जब वह टिप्पणी करना चाहते हैं तो कागज पर अपनी प्रतिक्रिया लिखते हैं।

सचिव ने केजरीवाल की जीत के बारे में जब अन्ना हजारे को बताया तो उन्होंने लिखा ‘थेके आहे’ (ठीक है)। सचिव ने जब उनसे यह कहा कि मीडिया आपकी प्रतिक्रिया चाहती है तो उन्होंने कहा कि वह कोई टिप्पणी नहीं करेंगे। हालांकि, हजारे के पैतृक गांव रालेगण सिद्धि के निवासियों ने मंगलवार को केजरीवाल की जीत का जश्न मनाने के लिए पटाखे फोड़े। अन्ना को न्योता नहीं दिए जाने की खबर लोगों में चर्चा का विषय बना है।

प्रादेशिक

कोरोना राहत कार्य में आगे आया सीएमएस लखनऊ, दिए 01 करोड़ 90 लाख रुपए

Published

on

 सीएमएस लखनऊ ने कोरोना राहत कार्य के लिए मुख्यमंत्री को 01 करोड़ रूपए का एक और सहयोग किया है। अब तक विद्यालय ने 1 करोड़ 90 लाख रूपए का योगदान दिया है।

सिटी मोन्टेसरी स्कूल के संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डॉ. जगदीश गाँधी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके सरकारी आवास 5 कालीदास मार्ग पर भेंट कर उन्हें कोरोना राहत कार्य के लिए 1 करोड़ रूपए का चेक भेंट किया।

 

इससे पहले सी.एम.एस. ने कोरोना प्रभावित जरूरतमंदों की भोजन व्यवस्था के लिए नगर आयुक्त इन्द्रमणि त्रिपाठी को 50 लाख रूपए का चेक भेंट किया और उसके बाद लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश को इण्डियन रेडक्रास सोसाइटी की ओर से किए जा रहे कोरोना राहत कार्य के लिए 20 लाख रूपए का आर्थिक योगदान दिया और लखनऊ विकास प्राधिकरण की ओर से चलाई जा रही पांच जनता रसोईघरों के संचालन के लिए 20 लाख रूपए की सहायता दी है।

इस प्रकार सी.एम.एस. ने अब तक रूपए 1,90,00,000/- (एक करोड़ नब्बे लाख) रूपयों की धनराशि कोरोना पीड़ितों के सहायतार्थ दी है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending