Connect with us

नेशनल

राहुल गांधी ने पुलवामा हमले पर उठाया सवाल, सरकार से पूछी ये तीन बातें

Published

on

नई दिल्ली। पुलवामा आतंकी हमले की पहली बरसी पर कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी, साथ ही मोदी सरकार के घेरते हुए हमले को लेकर कई सवाल भी खड़े किए।

शुक्रवार को राहुल गांधी ने ट्वीट के जरिए नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। राहुल गांधी ने पूछा कि अभी तक हमले की जांच का क्या हुआ? आखिर इससे किसे फायदा हुआ? राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा, ‘आज जब हम पुलवामा के चालीस शहीदों को याद कर रहे हैं, तब हमें पूछना चाहिए…

  1. पुलवामा आतंकी हमले से किसे सबसे ज्यादा फायदा हुआ?
  2. पुलवामा आतंकी हमले को लेकर हुई जांच से क्या निकला?
  3. सुरक्षा में चूक के लिए मोदी सरकार में किसकी जवाबदेही तय हुई?

राहुल गांधी से पहले सीपीआई (एम) नेता मोहम्मद सलीम ने भी पुलवामा के आतंकी हमले को लेकर सरकार पर निशाना साधा था। मोहम्मद सलीम ने ट्विटर पर लिखा, ‘हमें जवानों के लिए मेमोरियल नहीं चाहिए। बल्कि हम ये जानना चाहते हैं कि अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर से 80 किलो RDX कैसे भारत में आ गया, वो भी उस जगह जहां पर सेना की इतनी बड़ी तादाद है।

संबित पात्रा ने किया पलटवार

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पुलवामा आतंकी हमले को लेकर जो सवाल पूछे हैं उसपर भाजपा भड़क गई है। बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने राहुल गांधी पर पलटवार किया है। संबित पात्रा ने लिखा कि पुलवामा नृशंस हमला था और यह एक नृशंस बयान है कि किसको फायदा हुआ। क्या गांधी परिवार कभी फायदे से आगे बढ़कर सोच सकता है। इनकी आतमाएं भी भ्रष्ट हो चुकी हैं।

 

 

नेशनल

CWC की बैठक बाद बोलीं सोनिया गांधी- दिल्ली हिंसा प्री-प्लान्ड, गृह मंत्री दें इस्तीफा

Published

on

नई दिल्ली। कांग्रेस की अंतरिम प्रमुख सोनिया गांधी की अध्यक्षता में कांग्रेस कार्यकारिणी समिति (सीडब्ल्यूसी) की महत्वपूर्ण बैठक हुई। इस बैठक में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी नदारद रहे।

नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर 23 फरवरी से दिल्ली में हुई हिंसक झड़पों में जान गंवाने वाले सभी लोगों की याद में पार्टी के नेताओं ने दो मिनट का मौन रखा।

बैठक के बाद अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नेताओं पर जमकर निशाना साधा। मीडिया से बात करते हुए सोनिया ने कहा कि दिल्ली में मौजूदा हालात चिंताजनक है।

एक साजिश के तहत हालात बिगड़े। बीजेपी नेताओं ने भड़काऊ भाषण दिए। चुनाव के दौरान नफरत फैलाया। दिल्ली की स्थिति के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह जिम्मेदार हैं।

गृह मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए। सोनिया गांधी ने पूछा कि रविवार को गृह मंत्री कहां थे और क्या कर रहे थे? हिंसा वाली जगहों पर कितनी पुलिस फोर्स लगी?

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending