Connect with us

नेशनल

दिल्ली चुनाव के बाद ‘आम आदमी’ को झटका, इतने रुपए बढ़ गए सिलेंडर के दाम

Published

on

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव समाप्त होते ही पेट्रोलियम कंपनियों ने बुधवार को देश में उपभोक्ताओं को बड़ा झटका देते हुए रसोई गैस सिलेंडर के दाम में भारी इजाफा किया है।

बिना सब्सिडी के 14.2 किलोग्राम वाले सिलेंडर का दाम बढ़ा दिया गया है, जिससे गृहिणियों के रसोई का बजट बिगड़ेगा। रसोई गैसे सिलेंडर के लिए अब उपभोक्ताओं को दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में क्रमश: 144.50 रुपये, 149 रुपये, 145 रुपये और 147 रुपये अधिक देने पड़ेंगे, जिससे गृहिणियों के रसोई का बजट बिगड़ेगा।

आईओसीएल की वेबसाइट के अनुसार, देश के चार प्रमुख महानगरों दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में रसोई गैस सिलेंडर का दाम बढ़कर अब क्रमश: 858.50 रुपये, 896 रुपये, 829.50 रुपये और 881 रुपये हो गया है। यह दर 12 फरवरी यानी बुधवार से लागू हो गई है।

इससे पहले रसोई गैस सिलेंडर के दाम में एक जनवरी, 2020 को वृद्धि की गई थी, जब चारों महानगरों -दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में रसोई गैस सिलेंडर का दाम बढ़कर क्रमश: 714 रुपये, 747 रुपये, 684.50 रुपये और 734 रुपये हो गया था।

इस महीने में एक फरवरी को 14.2 किलोग्राम वाले गैर सब्सिडी वाले सिलेंडर के दाम में बदलाव नहीं किया गया था, जबकि 19 किलो वाले सिलेंडर का दाम बढ़ा दिया गया था।

उल्लेखनीय है कि दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए मंगलवार को हुई मतगणना में आम आदमी पार्टी आप ने भारी जीत दर्ज की है। आप ने 70 सदस्यीय विधानसभा में 62 सीटें जीती है, जबकि भाजपा महज आठ सीटें जीत पाई है।

 

नेशनल

CWC की बैठक बाद बोलीं सोनिया गांधी- दिल्ली हिंसा प्री-प्लान्ड, गृह मंत्री दें इस्तीफा

Published

on

नई दिल्ली। कांग्रेस की अंतरिम प्रमुख सोनिया गांधी की अध्यक्षता में कांग्रेस कार्यकारिणी समिति (सीडब्ल्यूसी) की महत्वपूर्ण बैठक हुई। इस बैठक में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी नदारद रहे।

नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर 23 फरवरी से दिल्ली में हुई हिंसक झड़पों में जान गंवाने वाले सभी लोगों की याद में पार्टी के नेताओं ने दो मिनट का मौन रखा।

बैठक के बाद अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नेताओं पर जमकर निशाना साधा। मीडिया से बात करते हुए सोनिया ने कहा कि दिल्ली में मौजूदा हालात चिंताजनक है।

एक साजिश के तहत हालात बिगड़े। बीजेपी नेताओं ने भड़काऊ भाषण दिए। चुनाव के दौरान नफरत फैलाया। दिल्ली की स्थिति के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह जिम्मेदार हैं।

गृह मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए। सोनिया गांधी ने पूछा कि रविवार को गृह मंत्री कहां थे और क्या कर रहे थे? हिंसा वाली जगहों पर कितनी पुलिस फोर्स लगी?

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending