Connect with us

नेशनल

दूसरी पत्नी ने प्रेमी संग मिलकर कराई थी रणजीत बच्चन की हत्या

Published

on

लखनऊ। विश्व हिंदू महासभा के अन्तर्राष्ट्रीय अध्यक्ष रणजीत बच्चन की हत्या उसकी दूसरी पत्नी स्मृति श्रीवास्तव ने अपने प्रेमी देवेंद्र के साथ मिलकर करवाई थी। पुलिस कमिश्नर लखनऊ सुजीत पांडेय ने प्रेस कांफ्रेंस कर पूरे मामले का खुलासा किया। पुलिस के मुताबिक़, स्मृति और उसका प्रेमी देवेंद्र शादी करना चाहते थे लेकिन रणजीत दोनों के बीच बाधा बन रहे थे। रणजीत को रास्ते से हटाने के लिए ही स्मृति और देवेंद्र ने भाड़े के शूटरों से उसकी हत्या करवा दी। पुलिस ने स्मृति श्रीवास्तव, देवेंद्र और एक अन्य आरोपी संजीत को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि वारदात को अंजाम देने वाला शूटर जीतेंद्र फरार है।

संजीत वही शख्स है जो कार चलाकर शूटर जीतेंद्र को हजरतगंज भाजपा मुख्यालय के पास छोड़ देता है। जहां से जीतेंद्र रणजीत के पीछे ग्लोब पार्क तक जाता है और उसकी हत्या कर देता है। शूटर जीतेंद्र अभी भी फरार है। पुलिस कमिश्नर ने कहा कि पूछताछ में पता चला कि स्मृति और देवेंद्र शादी करना चाहते थे लेकिन रणजीत स्मृति को तलाक नहीं दे रहे थे। ये मामला 2016 से कोर्ट में लंबित था। जिससे देवेंद्र ने स्मृति के साथ मिलकर रणजीत बच्चन को रास्ते से हटाने की योजना बनाई।

एक शूटर गिरफ्तार

पुलिस और एसटीएफ की टीम ने रणजीत बच्चन के परिजनों के मोबाइल फोन की सीडीआर यानी कॉल डिटेल रिकॉर्ड को खंगाला था जिसके बाद इस हत्याकांड का मुंबई कनेक्शन पता चला। पुलिस और एसटीएफ की टीम ने मुंबई के एक इलाके से आरोपी शूटर को हिरासत में ले लिया। पुलिस के मुताबिक रणजीत बच्चन की हत्या के बाद यह शूटर ट्रेन से मुंबई भाग गया था।

नेशनल

आखिर किस वजह से पलटी गाड़ी, कानपुर के एसएसपी ने बताया

Published

on

नई दिल्‍ली। कानपुर में आठ पुलिस वालों के हत्यारे विकास दुबे को एसटीएफ ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया है। यूपी एसटीएफ उसे लेकर कानपुर आ रही थी कि तभी रास्ते में जिस गाडी में वो बैठा था वो पलट गई। इसके बाद उसने एसटीएफ के एक सिपाही से पिस्टल छीन भागने की कोशिश की लेकिन मुठभेड़ में वो मार गिराया गया।

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार, एसएसपी दिनेश कुमार ने इस बारे में खुलासा किया है कि जिस कार में विकास दुबे को लेकर आया जा रहा था, वह गाड़ी क्‍यों पलटी।

एसएसपी कानपुर दिनेश कुमार पी ने बताया कि कैसे कुछ गाड़ियों से पीछा छुड़ाने के लिए पुलिस को स्पीड में गाड़ी दौड़ानी पड़ी और दुर्घटना हो गई। इस दौरान यूपी एसटीएफ भी साथ थी। एसएसपी दिनेश कुमार पी ने बताया कि विकास दुबे को ला रहे काफिले के पीछे कुछ गाड़ियां लगी हुई थीं। यह लगातार पुलिस के काफिले को फॉलो कर रही थीं, जिसकी वजह से गाड़ी तेज़ भगाने की कोशिश की गई। बारिश तेज़ थी, इसलिए गाड़ी पलट गई।

#KANPUR #SSP #VIKASDUBEY

Continue Reading

Trending