Connect with us

प्रादेशिक

राहुल गांधी के बयान पर भड़की शिवसेना, दे डाली ये नसीहत

Published

on

नई दिल्ली। दिल्ली के रामलीला मैदान से राहुल गांधी द्वारा सावरकर पर दिए बयान पर अब शिवसेना और कांग्रेस पार्टी के बीच तलवारें खिचती नजर आ रही हैं।

भारत बचाओ रैली के दौरान राहुल गांधी ने सावरकर की दुहाई देते हुए कहा था कि वे ‘रेप इन इंडिया’ वाले अपने बयान पर माफी नहीं मांगेगे क्योंकि उनका नाम राहुल सावरकर नहीं, राहुल गांधी है।

इस बयान से शिवसेना तिलमिला गई है। इसके बाद शिवसेना सांसद संजय राउत ने भी राहुल गांधी पर पलटवार कर दिया। संजय राउत ने कहा, राहुल का बयान बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है और सावरकर का बलिदान समझने के लिए राहुल को कांग्रेस नेता कुछ किताबें गिफ्ट करें।

संजय राउत ने मराठी में कहा, “हम पंडित नेहरू, महात्मा गांधी को भी मानते हैं, आप वीर सावरकर का अपमान ना करें, बुद्धिमान लोगों को ज्यादा बताने की जरूरत नहीं होती।”

दूसरे ट्वीट में उन्होंने कहा कि अगर आज भी आप वीर सावरकर का नाम लेते हैं तो देश के युवा उत्तेजित और उद्वेलित हो जाते हैं, आज भी सावरकार देश के नायक हैं और आगे भी नायक बने रहेंगे, वीर सावरकर हमारे देश का गर्व हैं।”

बता दें कि राहुल का इशारा हिंदूवादी नेता विनायक दामोदर सावरकर की ओर से 14 नवंबर, 1913 को ब्रिटिश सरकार को कथित रूप से लिखे गए माफीनामे की तरफ था, जिसे उन्होंने अंडमान की सेलुलर जेल में कैद रहने के दौरान लिखा था।

रेप पर दिए गए बयान को लेकर बीजेपी की ओर से माफी की मांग पर राहुल ने शनिवार को कहा था कि उनका नाम राहुल सावरकर नहीं है, राहुल गांधी है और वे मर जाएंगे पर कभी माफी नहीं मांगेंगे।

 

प्रादेशिक

Uttarpradesh : धान खरीद में लापरवाही बरतने वाले जिलाधिकारियों पर होगी कड़ी कार्रवाई

Published

on

By

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने धान खरीद में हो रही गड़बड़ी को देखते हुए ठोस कदम उठा लिया है। यूपी में आठ केंद्र प्रभारियों सहित 10 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है।

22 अक्टूबर 2020 : इन राशिवालों को हो सकता है धनलाभ

सीएम योगी ने धान खरीद में गड़बड़ी करने वाले हर शख्स को गिरफ्तार कर जेल भेजने के निर्देश दिए हैं।हाल ही में धान खरीद के दौरान कई अनियमितताओं की शिकायत आई थी, किसानों ने आरोप लगाया था कि उनकी उपज का उचित मूल्य उन्हें नहीं मिल पा रहा है, जिसके बाद उत्तर प्रदेश में धान खरीद को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने फैसला लिया है।

सीएम ने कहा है कि प्रदेश में किसानों को उचित मूल्य दिलाने के लिए अब डीएम भी जिम्मेदार होंगे। सीएम योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए राज्य के सभी जिलाधिकारियों के साथ बैठक की और निर्देश दिया कि किसानों के धान की समय से खरीद हो। साथ ही उन्हें इसका उचित मूल्य मिले, ये जिम्मेदारी जिलाधिकारी की होगी। धान खरीद में लापरवाही बरतने वाले जिलाधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

#cmyogi #Uttarpradesh #paddypurchase #agriculturemarket

Continue Reading

Trending