Connect with us

उत्तराखंड

उत्तराखंड में पलायन रोकने को लेकर होने जा रही बड़ी बैठक, ये हैं अहम मुद्दे

Published

on

देहरादून। नीति आयोग, भारत सरकार द्वारा उत्तराखण्ड राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों से हो रहे पलायन को रोकने के सम्बन्ध में सदस्य नीति आयोग, भारत सरकार का उत्तराखण्ड राज्य में माह दिसम्बर में प्रस्तावित बैठक की तैयारी के लिए मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह की अध्यक्षता में शुक्रवार को  बैठ़क आयोजित हुई।

बैठ़क में राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों से पलायन रोकने के सम्बन्ध में किए जा रहे प्रयासों तथा भविष्य की कार्ययोजना पर चिकित्सा, वन, शिक्षा, ग्राम्य विकास, लोक निर्माण विभाग, पेयजल, सिंचाई, लघु सिंचाई, कृषि, खाद्य एवं रसद, पर्यटक, उद्योग तथा कौशल विकास विभागो के साथ विस्तृत विचार-विमर्श किया गया। विभागों द्वारा पलायन रोकने हेतु कार्ययोजना का प्रस्तुतीकरण किया गया।

बैठक के आरम्भ में मुख्य सचिव द्वारा निर्देशित किया गया कि ग्रामीण क्षेत्रों विशेषकर सीमान्त विकासखण्ड के गांवों का पलायन रोकने के लिए विभाग में संचालित योजनाओं पर ठोस कार्ययोजना नीति आयोग के समक्ष प्रस्तुत करें।

उन्होंने सीमान्त विकासखण्ड के 50 प्रतिशत से अधिक पलायन वाले चिन्ह्ति 284 गांवों में रोजगार परक और आर्थिक संसाधन बढ़ाने से सम्बन्धित कार्यों को कार्ययोजना मे शामिल करने के निर्देश दिए। उन्होंने पलायन आयोग द्वारा दी गई संस्तुतियों को समावेशित करते हुए इन चिन्ह्ति गांवों को ध्यान में रखकर कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए।

पलायन आयोग के उपाध्यक्ष एस.एस.नेगी द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में उद्योग ईकाई व आजिविका/रोजगार सृजन आधारित योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति की बैठक में प्रभावी पैरवी करने की मुख्य सचिव से अपेक्षा की गई है।

 

आध्यात्म

राम मंदिर कार्यक्रम में शामिल होंगे उत्तराखंड के सतपाल महाराज

Published

on

By

देश के प्रमुख संत-महात्माओं सहित 5 अगस्त को राष्ट्रसंत सतपाल महाराज भी राम मंदिर कार्यक्रम में शामिल होंगे।

राष्ट्रसंत सतपाल महाराज ने कहा है कि भगवान राम हमारे सैनिकों और कोरोनावरियर्स को सशक्त बनाये ताकि वह आंतरिक और बाह्य रूप से देश की रक्षा कर सकें।

राम मंदिर का नया नक्शा देखकर, बोल उठेंगे ‘जय श्री राम’

श्री राम मंदिर निर्माण भूमि पूजन समारोह मुहूर्त की चर्चा को लेकर सतपाल महाराज ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि “मंगल भवन अमंगल हारी” सारे अमंगलों को दूर करने वाले प्रभु श्रीराम हैं। अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि में मंदिर निर्माण हेतु जिस मुहूर्त में भूमि पूजन के समय का निर्धारण किया गया है वह अभिजीत मुहूर्त है। भगवान श्रीराम का जन्म भी अभिजीत मुहूर्त में हुआ था इसलिए यह समय शुभ फलदायक “सर्वार्थ सिद्धि योग” का समय है। मान्यता है कि इस मुहूर्त में किए जाने वाले सभी शुभ कार्य सफल होते हैं। इसीलिए श्री राम मंदिर निर्माण हेतु होने वाले भूमि पूजन का समय अभिजीत मुहूर्त में निर्धारित किया गया है। सतपाल महाराज ने कहा कि वह प्रार्थना करते हैं कि हमारा देश विश्व गुरु बने और अनंतकाल के लिए हमारे देश की गौरव गाथा गाई जाती रहे।

#Rammandir #Ayodhya #pmmodi #lordrama

Continue Reading

Trending