Connect with us

प्रादेशिक

उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद प्रियंका गांधी ने साधा योगी सरकार पर निशाना

Published

on

लखनऊ। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मौत के बाद उत्तर प्रदेश की कानून-व्यवस्था को लेकर योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमला बोला है।

प्रियंका गांधी ने शनिवार को एक ट्वीट में कहा, “मैं ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि उन्नाव पीड़िता के परिवार को इस दुख की घड़ी में हिम्मत दें।”

उन्होंने कानून-व्यवस्था की स्थिति को लेकर राज्य सरकार की आलोचना की और कहा, “यह हम सबकी नाकामी है कि हम उसे न्याय नहीं दे पाए। सामाजिक तौर पर हम सब दोषी हैं, लेकिन यह उत्तर प्रदेश में खोखली हो चुकी कानून-व्यवस्था को भी दिखाता है।”

प्रियंका ने सवाल किया कि राज्य में महिलाओं पर अत्याचार क्यों बढ़ रहे हैं और उन्नाव में पिछली घटना को देखते हुए पीड़िता को कोई सुरक्षा क्यों नहीं दी गई।

उन्होंने लिखा, “उन्नाव की पिछली घटना को ध्यान में रखते हुए सरकार को तत्काल पीड़िता को सुरक्षा क्यों नहीं दी गई? जिस अधिकारी ने उसका एफआईआर दर्ज करने से मना किया, उस पर क्या कार्रवाई हुई?” प्रियंका ने आगे कहा, “उप्र में रोज रोज महिलाओं पर जो अत्याचार हो रहा है, उसको रोकने के लिए सरकार क्या कर रही है?”

 

प्रादेशिक

बाहुबली मुख्तार अंसारी का करीबी शूटर एसटीएफ से मुठभेड़ में ढेर

Published

on

लखनऊ। यूपी एसटीएफ ने बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय हत्याकांड के आरोपी व बाहुबली मुख्तार अंसारी के करीबी बदमाश राकेश पांडेय को एनकाउंटर में ढेर कर दिया है। उस पर एक लाख रुपये का इनाम था। राकेश पांडेय मुख्तार अंसारी और मुन्ना बजरंगी का करीबी था। लखनऊ के सरोजनीनगर में एसटीएफ ने राकेश पांडेय का एनकाउंटर किया। मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद राकेश पांडेय मुख्तार अंसारी गैंग का बड़ा शूटर बन गया था।

हनुमान मऊ के कोपागंज इलाके का रहने वाला था और उसने कई जघन्य घटनाओं को अंजाम दिया था। वह मुन्ना बजरंगी की जेल में हत्या होने के बाद मुख्तार अंसारी गैंग का शूटर बन गया था।

राकेश पांडेय भाजपा नेता कृष्णानंद राय की हत्या का भी आरोपी था। 2005 में भाजपा के विधायक रहे राय की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी। 29 नवंबर 2005 को राय करीमुद्दीन इलाके के सोनाड़ी गांव में एक क्रिकेट मैच का उद्घाटन करने के लिए पहुंचे थे, इस दिन यहां काफी बारिश हो रही थी, जिस वजह से अपनी बुलेटप्रूफ गाड़ी छोड़ करीबी लोगों के साथ चले गए थे। शाम तकरीबन 4 बजे जब वह वापस लौट रहे थे तभी बसनियां चट्टी के पास कुछ लोगों ने एके 47 से उनपर हमला कर दिया, जिसमे कृष्णानंद राय सहित 7 लोगों की मौत हो गई थी।
Continue Reading

Trending