Connect with us

प्रादेशिक

बच्चों की हत्या कर पत्नी और महिला मैनेजर के साथ शख्स ने की आत्महत्या

Published

on

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक बिजनेसमैन ने अपने बच्चों की हत्या कर पत्नी और महिला मैनेजर के साथ आठवीं मंजिल से कूद कर जान दे दी।

घटना मंगलवार सुबह की है। शुरूआती जांच में फ्लैट से सुसाइड नोट मिला है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है।पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार आज सुबह करीब 5:15 बजे उन्हें सूचना मिली कि गाजियाबाद जिले के इंदिरापुरम के वैभव खंड में कृष्णा अपरा सोसाइटी की आठवीं मंजिल से दो महिला और एक पुरुष नीचे कूद गए हैं।

सूचना मिलने पर जब पुलिस घटनास्थल पर पहुंची तो पाया कि एक पुरुष और एक महिला की मृत्यु हो गई है जबकि उनमें से एक महिला घायल थी जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। कुछ घंटों बाद उस महिला की भी इलाज के दौरान मौत हो गई।

वहीं पुलिस ने जब आठवीं मंजिल पर स्थित उस फ्लैट के अंदर पहुंची जहां से छलांग लगाई थी तो उन्होंने देखा कि वहां दो बच्चे और एक खरगोश मृत पड़े थे। मृतकों की पहचान पति गुलशन(45), पत्नी परवीन(43), मैनेजर संजना(38), बेटी कृतिका(18), बेटा रितिक(13) के रूप में हुई है।

प्रादेशिक

सरकारी स्कूलों में शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा आनन्द बर्द्धन ने की बैठक

Published

on

By

प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा आनन्द बर्द्धन ने मंगलवार को एनआईसी, सचिवालय में राजकीय और अनुदानित महाविद्यालयों के प्राचार्यों और हर जनपद के नोडल अधिकारियों के साथ वीडियो कॉफ्रेंसिग के ज़रिए से बैठक ली।

उन्होंने कहा कि सभी महाविद्यालयों में शिक्षक टीचिंग प्लान, पाठ्यक्रम पूर्ण होने की स्थिति, शिक्षकों की तैनाती, छात्र-छात्राओं की संख्या, एडूसेट के माध्यम से शिक्षण कार्य, नेट वर्क कनेक्टिविटी की उपलब्धता के संबंध में जानकारी प्राप्त की गई।

जिन दूरस्थ स्थित महाविद्यालयों में कतिपय विषयों में शिक्षकों की तैनाती नहीं है और स्थानीय स्तर पर प्राचार्य के विज्ञापन निकालने के पश्चात भी शिक्षक उपलब्ध नहीं हो पा रहे हैं, वहां यह निर्देश दिए गए कि निदेशालय स्तर से उन महाविद्यालयों के लिए विज्ञापन प्रकाशित किया जाए और उन दूरस्थ महाविद्यालयों में शिक्षकों की तैनाती की जाए।

उन्होंने कहा कि सभी स्नात्तकोत्तर महाविद्यालयों में 10-20 बच्चों का ग्रुप बनाकर मेन्टरशिप की व्यवस्था किए जाने के निर्देश दिए गए। महाविद्यालयों में स्थित लाइब्रेरी में पाठ्यक्रम पुस्तकों के साथ रिफ्रेन्सबुक और कई प्रतियोगितात्मक परीक्षाओं से सम्बन्धित पुस्तकें/सामग्री भी सम्मलित करने और पाठ्यक्रम से सम्बन्धित नावेललोरिएट की पुस्तकों की भी व्यवस्था करने के लिए निर्देशित किया गया।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending