Connect with us

नेशनल

अयोध्या मामले पर मुस्लिम पक्षकार ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की पुनर्विचार याचिका

Published

on

नई दिल्ली। अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद मुस्लिम पक्षकार ने सर्वोच्च न्यायालय में पुनर्विचार याचिका दाखिल कर दी है।

एम सिद्दीकी की ओर से दायर की गई पुनर्विचार याचिका में मांग की गई है कि संविधान पीठ के आदेश पर रोक लगाई जाए, जिसमें कोर्ट ने विवादित जमीन को राम मंदिर के पक्ष दिया था।

217 पन्नों की इस याचिका में ये भी मांग की गई है कि सुप्रीम कोर्ट केंद्र सरकार को आदेश दे कि मंदिर बनाने को लेकर ट्रस्ट का निर्माण न करे।

याचिका में कहा गया कि सुप्रीम कोर्ट ने 1934, 1949 और 1992 में मुस्लिम समुदाय के साथ हुई ना-इंसाफी को गैरकानूनी करार दिया, लेकिन उसे नजरअंदाज भी कर दिया। याचिका में कहा गया कि इस मामले में  पूर्ण न्याय तभी होता जब मस्जिद का पुनर्निर्माण होगा।

एम सिद्दीकी ने अपनी याचिका में कहा कि विवादित ढांचा हमेशा ही मस्जिद था और उस पर मुसलमानों का एकाधिकार रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने मान लिया कि 1528 से 1856 तक वहां नमाज न पढ़ने के साक्ष्य सही है, जो कि कोर्ट ने गलत किया।

 

नेशनल

बीजेपी अध्यक्ष ने गिरिराज सिंह को किया तलब, देवबंद पर दिया था विवादित बयान

Published

on

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिह को तलब किया है। जेपी नड्डा ने गिरिराज सिंह के विवादित बयानों को लेकर उनसे सवाल पूछा है।

सूत्रों के मुताबिक जेपी नड्डा ने गिरिराज सिंह को बेवजह बयानबाजी से बचने को कहा है। उन्होंने गिरिराज के बयानों पर आपत्ति जताई है। हाल ही में गिरिराज सिंह ने देवबंद को लेकर विवादित बयान दिया था।

शुक्रवार को गिरिराज सिंह ने बेगूसराय के मुस्लिम बहुत इलाके में खुली जीप में सवारी की थी और भीड़ के साथ चलते हुए “भारतवंशी तेरा मेरा रिश्ता क्या, जय श्री राम जय श्री राम” का नारा लगाया था. अपने भाषण में गिरिराज सिंह ने नरेंद्र मोदी को भगवान का अवतार बताया था। उन्होंने भारत माता पर उंगली उठाने वालों की आंखें निकाल लेने की बात कही थी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending