Connect with us

प्रादेशिक

स्कूल में सांप काटने से 10 वर्षीय छात्रा की मौत, टीचर सस्पेंड

Published

on

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली। केरल के एक सरकारी स्कूल में सांप के काटने से 10 साल की छात्रा की मौत हो गई. ये घटना वायनाड के सुल्तान बाथरी के एक सरकारी स्कूल की है। वहीं लापरवाही के कारण एक टीचर को बर्खास्त कर दिया गया है। उसके सहपाठियों के अनुसार, घटना दोपहर 3.10 बजे हुई, जबकि स्कूल प्रशासन ने 3.50 तक कोई कार्रवाई नहीं की।

हालांकि, स्कूल के हेडमास्टर ने कहा कि छात्रा को अपराह्न् 4.09 बजे के करीब स्थानीय अस्पताल ले जाया गया और करीब 4.50 बजे उसने उल्टियां करनी शूरू कर दी।

हेडमास्टर ने कहा कि इसके बाद डॉक्टरों ने कहा कि छात्रा को कोझिकोड मेडिकल कॉलेज अस्पताल में ले जाना पड़ेगा, जहां पहुंचने में लगभग 2.30 घंटे का समय लगता है।

हेडमास्टर ने कहा, “रास्ते में छात्रा को बेचैनी महसूस हुई और उसे वायथिरी तालुक अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे स्थानीय अन्य अस्पताल में ले जाने को कहा लेकिन उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया।”

यह घटना तब हुई, जब वह अपनी कक्षा में बैठी थी और सांप कक्षा में आया उसे काटा और वापस चला गया। स्कूल के अधिकारियों को इसका पता नहीं चला और उनके द्वारा क्या हुआ व क्या करना है क्या नहीं की बहस में बहुत कीमती समय हाथ से निकल गया।

लेकिन, बाद में अस्पताल जाकर पता चला कि बच्ची को सांप ने कटा है। वायनाड के जिला कलेक्टर ने कहा कि वह मामले के बारे में पता लागाएंगे।

 

प्रादेशिक

आत्मरक्षा के लिए कुंग फू का प्रशिक्षण जरूर लें महिलाएं: उपेंद्र तिवारी

Published

on

लखनऊ। कुंग फू खेल काफी प्राचीन खेल है, यह  देश की आत्मा में बसता है। गरीब-गुरबे इस खेल को खेलते थे। वे स्वस्थ और प्रसन्नचित्त जीवन जीते थे। जब से हम अपनी धरोहर और संस्कृत से नाता टूटा है  तब से स्वस्थ और खुशहाल जीवन एक सपना बनता जा रहा है। यह उदगार प्रदेश के खेल मंत्री उपेंद्र तिवारी ने 13वीं राष्ट्रीय कुंग फू प्रतियोगिता के दूसरे दिन मुख्य अथिति के तौर पर खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए व्यक्त किए।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने देशवासियों को स्वस्थ रखने के लिए फिट इंडिया का अभियान चला रखा है। यूपी इसमें पूरी जोर शोर से शिरकत कर रहा है। कुंग फू खेल के प्रति जोर देते हुए कहा कि यह खेल समाज के हर तबके हर उम्र के लिए लाभदायी है इसलिए इस खेल को जरूर अपनाना चाहिए। इस खेल से स्वस्थ फिट रहता है। साथ आत्म रक्षा भी होती है।

तिवारी ने कहा कि यह खेल महिलाओं की लिए वरदान साबित हो सकता है। इस खेल का प्रशिक्षण लेकर अपनी रक्षा कर सकती हैं। इसलिए महिलाएं  कुंग फू खेल का प्रशिक्षण जरूर लें। उन्होंने कुंग फू फेडरेशन का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि समाज को स्वस्थ करने का बीड़ा उठाने का बहुत ही सराहनीय कार्य हैं। इस मौके पर खेल निदेशक डा.आर.पी. सिंह ने कहा कुंग फू खेल आज समाज की आवश्यकता है। इस खेल को समाज के हर वर्ग तक पहुँचाने के लिए खेल विभाग हर संभव मदद करेगा।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending