Connect with us

प्रादेशिक

स्वाति सिंह का ऑडियो वायरल होने के बाद प्रियंका गांधी ने साधा योगी सरकार पर निशाना

Published

on

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने घोटालेबाज बिल्डर को बचाने के लिए पुलिस अधिकारी को धमकाने वाली उत्तर प्रदेश की मंत्री स्वाति सिंह के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने को लेकर योगी सरकार की आलोचना की है।

प्रियंका ने रविवार को ट्वीट कर कहा, “यूपी में भाजपा सरकार की मंत्री बोलती हैं कि ऊपर से आदेश है, घोटालेबाजों पर कोई कार्रवाई नहीं होगी। ये ‘ऊपर’ कौन है जो चाहता कि घोटालेबाजों पर कार्रवाई न हो। डीएचएफएल-पीएफ घोटाला, सिडको-पीएफ, होमगार्ड वेतन घोटाला, एलडीए घोटाला। इन सारे घोटालों में बड़ी मछलियों पर कार्रवाई नहीं हो रही है।”

गौरतलब है कि एक ऑडियो क्लिप के वायरल होने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंत्री स्वाति सिंह को तलब किया। इस ऑडियो क्लिप में उन्हें एक पुलिस अधिकारी को धमकाते हुए सुना जा सकता है। वह एक बिल्डर के खिलाफ चल रहा मामला वापस लेने को कह रही हैं।

अंसल ग्रुप का बिल्डर पहले से ही धोखाधड़ी के एक मामले में शामिल है और इसी के पक्ष में मंत्री कैंट थाने के सर्कल ऑफिसर बीनू सिंह पर केस वापस लेने का दबाव बना रही थीं।

29 सितंबर को रियल एस्टेट ग्रुप अंसल एपीआई के वाइस-चेयरमैन प्रणव अंसल जब आपराधिक विश्वासघात, धोखाधड़ी और जालसाजी से संबंधित मामलों के सिलसिले में लंदन जाने वाले थे, तभी उन्हें दिल्ली हवाईअड्डे पर हिरासत में ले लिया गया था। बाद में अंसल को लखनऊ लाया गया और जेल भेज दिया गया।

उत्तर प्रदेश में विपक्षी दलों को योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधने का इसके चलते मौका मिल गया। स्वाति सिंह ने इस प्रकरण पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया और उनसे प्रतिक्रिया के लिए संपर्क करने वाले पत्रकारों को भी फटकार लगाई।

खेल-कूद

हाथरस गैंगरेप की घटना से आहत विराट कोहली, कहा- अमानवीय और क्रूरता की हद से परे

Published

on

नई दिल्ली। हाथरस में दलित युवती के साथ गैंगरेप और उसकी मौत से पूरे देश में गम और गुस्से का माहौल है। टीम इंडिया के कप्तान वीरता कोहली ने भी इस पूरे मामले पर अपनी प्रतिक्रया दी है। वीरता कोहली ने हाथरस में गैंगरेप को ‘क्रूरता की हदें पार करने वाला’ बताते हुए उम्मीद जताई है कि पीड़िता के साथ न्याय होगा। विराट कोहली ने ट्वीट कर लिखा, ‘हाथरस में जो हुआ वह अमानवीय और क्रूरता की हद से परे है। आशा है कि इस जघन्य अपराध के दोषियों को सजा मिलेगी।

बता दें कि हाथरस में गैंगरेप की शिकार 19 वर्षीय दलित युवती की मंगलवार को दिल्ली के एक अस्पताल में मौत हो गई। चार लोगों ने कुछ दिन पहले उसके साथ गैंगरेप किया था। गैंगरेप के बाद दलित बिटिया की जुबान काटी गई और भयानक जख्म दिए गए थे। 14 सितंबर को, पीड़िता के गर्दन में पड़े दुपट्टे से एक खेत में उसे खींचा गया, जब वह पशुओं का चारा लेने गई थी, जिससे उसकी रीढ़ की हड्डी में चोट लग गई। जब उसका गला घोंटने की कोशिश की गई तो उसने अपनी जीभ को दांतों से जोर से काटा जिससे जीभ पर गहरा जख्म हो गया।

अलीगढ़ अस्पताल में न्यूरोसर्जरी के प्रमुख फखरुल होदा ने कहा कि उसकी रीढ़ को ठीक करने के लिए सर्जरी केवल उसकी स्थिति में सुधार के बाद ही की जा सकती थी। रीढ़ की हड्डी को नुकसान स्थायी रूप से दिखाई दिया। पांच भाई-बहनों में सबसे छोटी पीड़िता कुछ समय के लिए लाइफ सपोर्ट पर भी रखी गई। पिता के कहने पर लड़की को सोमवार को दिल्ली रेफर किया गया था। उसका भाई उसे दिल्ली ले गया। अस्पताल में भर्ती होने के एक हफ्ते बाद, लड़की ने पुलिस को बताया कि उसके साथ चार लोगों ने दुष्कर्म किया था, जिसका नाम भी उसने बताया था। सभी चार आरोपियों के नाम संदीप, रामू, लवकुश और रवि हैं, जिन्हें दुष्कर्म, हत्या के प्रयास और एससी / एसटी अधिनियम की धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया।

Continue Reading

Trending