Connect with us

प्रादेशिक

केबीसी में छाया इकाना क्रिकेट स्टेडियम, अमिताभ बच्चन ने पूछा ये सवाल

Published

on

लखनऊ का इकाना क्रिकेट स्टेडियम अपनी खूबसूरती और हाई क्लास सुविधाओं की वजह से देश ही नहीं बल्कि विदेशों के भी कई स्टेडियमों को काफी पीछे छोड़ चुका है।

 

यही वजह है दुनियाभर में इस स्टेडियम की चर्चा होती है। हाल ही में सोनी टीवी पर प्रसारित मशहूर शो ‘कौन बनेगा करोड़पति’ में इस स्टेडियम से जुड़ा सवाल पूछा गया जिसके बाद शो देखने वाले लोगों में इस इकाना क्रिकेट स्टेडियम के बारे में जानने की उत्सुक्ता बढ़ गई।

शो के दौरान होस्ट अमिताभ बच्चन ने झारखंड के रहने वाले चंदन कुमार से पूछा कि भारत रत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी इकाना क्रिकेट स्टेडियम किस शहर में स्थित है?

चंदन को इस सवाल का जवाब नहीं पता था लेकिन उनके पास लाइफलाइन बची थी। लाइफलाइन का सहारा लेते हुए उन्होंने एक्सपर्ट एडवाइज ली। जिसके बाद एक्सपर्ट पैनल में बैठे वरिष्ठ पत्रकार विक्रांत गुप्ता ने उन्हें सही जवाब लखनऊ बताया।

लखनऊ की पहचान बना चुका इकाना क्रिकेट स्टेडियम

लखनऊ को नवाबों का शहर कहा जाता है लेकिन अब इकाना क्रिकेट स्टेडियम उत्तर प्रदेश की राजधानी की नई पहचान बन चुका है।

इकना स्टेडियम अपनी हाइ क्लास इंफ्रास्ट्रचर की वजह से दर्शको का दिल जीतने में कामयाब रहा है। काफी बड़ी संख्या में लोग इकाना में मैचों का लुफ्त उठाने आ रहे हैं।

इकाना क्रिकेट स्टेडियम फिलहाल अफ़ग़ानिस्तान और वेस्टइंडीज के बीच चल रहे अंतरराष्ट्रीय मुकाबले की मेजबानी कर रहा है। दोनों टीमों के बीच यहां अब तक 3 वनडे मैच खेले जा चुके हैं जबकि टी-20 सीरीज जारी है। वहीं दोनों टीमों को इसी स्टेडियम में एक टेस्ट मैच भी खेलना है।

क्यों है इकाना स्टेडियम इतना खास

इस स्टेडियम में 9 पिच हैं। इममें से 5 पिचों को महाराष्ट्र की लाल मिट्टी से बनाया गया है जबकि बाकि के चार पिचों को कटक की काली मिट्टी से तैयार किया गया है।

इस स्टेडियम की क्षमता 50 हजार की है। यहां 50 हजार लोग एक साथ मैच का लुत्फ उठा सकते हैं। स्टेडियम में 6 फ्लड लाइट्स लगाई गई हैं, फ्लड लाइट में जड़े 560 बल्ब मैदान में रोशनी की कमी महसूस नहीं होने देते। स्टेडियम में एक हजार कार पार्किंग और लगभग पांच हजार टू-वीलर पार्किंग की व्यवस्था है।

प्रादेशिक

आत्मरक्षा के लिए कुंग फू का प्रशिक्षण जरूर लें महिलाएं: उपेंद्र तिवारी

Published

on

लखनऊ। कुंग फू खेल काफी प्राचीन खेल है, यह  देश की आत्मा में बसता है। गरीब-गुरबे इस खेल को खेलते थे। वे स्वस्थ और प्रसन्नचित्त जीवन जीते थे। जब से हम अपनी धरोहर और संस्कृत से नाता टूटा है  तब से स्वस्थ और खुशहाल जीवन एक सपना बनता जा रहा है। यह उदगार प्रदेश के खेल मंत्री उपेंद्र तिवारी ने 13वीं राष्ट्रीय कुंग फू प्रतियोगिता के दूसरे दिन मुख्य अथिति के तौर पर खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए व्यक्त किए।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने देशवासियों को स्वस्थ रखने के लिए फिट इंडिया का अभियान चला रखा है। यूपी इसमें पूरी जोर शोर से शिरकत कर रहा है। कुंग फू खेल के प्रति जोर देते हुए कहा कि यह खेल समाज के हर तबके हर उम्र के लिए लाभदायी है इसलिए इस खेल को जरूर अपनाना चाहिए। इस खेल से स्वस्थ फिट रहता है। साथ आत्म रक्षा भी होती है।

तिवारी ने कहा कि यह खेल महिलाओं की लिए वरदान साबित हो सकता है। इस खेल का प्रशिक्षण लेकर अपनी रक्षा कर सकती हैं। इसलिए महिलाएं  कुंग फू खेल का प्रशिक्षण जरूर लें। उन्होंने कुंग फू फेडरेशन का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि समाज को स्वस्थ करने का बीड़ा उठाने का बहुत ही सराहनीय कार्य हैं। इस मौके पर खेल निदेशक डा.आर.पी. सिंह ने कहा कुंग फू खेल आज समाज की आवश्यकता है। इस खेल को समाज के हर वर्ग तक पहुँचाने के लिए खेल विभाग हर संभव मदद करेगा।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending