Connect with us

प्रादेशिक

नहीं रहे भोपाल गैस पीड़ितों के लिए लड़ने वाले अब्दुल जब्बार

Published

on

नई दिल्ली। भोपाल गैस पीड़ितों की लड़ाई लड़ने वाले अब्दुल जब्बार का गुरुवार की को निधन हो गया। वे कुछ दिनों से बीमार थे और अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था।

भोपाल स्थित यूनियन कार्बाइड फैक्टरी से दो दिसंबर 1984 की रात को रिसी जहरीली मिथाइल आइसोसाएनेट गैस ने हजारों लोगों की जान ले ली थी।

अब्दुल जब्बार ने इस त्रासदी में अपने माता-पिता को खो दिया था। इस गैस का उनके फेफड़ों और आंखों पर भी गंभीर असर हुआ था। वे भी बीमरियों की जद में आ गए थे, उन्हें एक आंख से कम दिखाई देता था।

गैस पीड़ितों के नेता के तौर पर पहचाने जाने वाले अब्दुल जब्बार रक्तचाप और शुगर की बीमारी से पीड़ित थे। पिछले दिनों उन्हें भोपाल के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उपचार के दौरान गुरुवार की रात को उनका निधन हो गया।

गुरुवार दोपहर को ही राज्य के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जब्बार के इलाज के लिए हर संभव मदद का ऐलान किया था। उन्हें मुंबई भेजे जाने की तैयारी चल रही थी, उसी बीच देर रात को उनके निधन की खबर आई।

अब्दुल जब्बार ने गैस पीड़ितों के हक की लड़ाई लड़ने में कसर नहीं छोड़ी। पीड़ित परिवारों की महिलाओं के लिए भोपाल गैस पीड़ित महिला उद्योग संगठन बनाया। इसके जरिए महिलाओं को आर्थिक तौर पर सक्षम बनाने का अभियान जारी रखा।

प्रादेशिक

यूपी में अब शनिवार और रविवार रहेगा पूर्ण लॉकडाउन

Published

on

प्रदेश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए यूपी की योगी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। अब प्रदेश में शनिवार और रविवार को पूर्ण लॉकडाउन रहेगा।
योगी सरकार के इस फैसले के ​मुताबिक उत्तर प्रदेश में कार्यालय और बाजार सोमवार से लेकर शुक्रवार तक खुलेंगे।

शनिवार और रविवार को प्रदेश में पूर्ण लॉकडाउन लागू रहेगा। यानी हर हफ्ते के शुरुआती 5 दिन बाजार और कार्यालय खुले रहेंगे। सप्ताह के आखिरी दो दिन कार्यालय और बाजार खोलने की अनुमति नहीं होगी। यह आदेश सरकारी के साथ ही सभी निजी दफ्तरों और संस्थानों के लिए है।

बताया जा रहा है कि वीकेंड पर लॉकडाउन लगाने का यह फैसला सीएम योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई टीम इलेवन की बैठक में लिया गया था. कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए ट्रांसमिशन चेन तोड़ने के लिए यह निर्णय लिया गया.

Continue Reading

Trending