Connect with us

नेशनल

राम मंदिर पर फैसले के बाद पीएम मोदी ने किया ट्वीट, कही ये बात

Published

on

नई दिल्ली। राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर शनिवार को सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला सुना दिया है। वर्षों पुराने इस विवाद पर फैसला सुनाते हुए रंजन गोगोई के अध्यक्षता वाली संवैधानिक पीठ ने रामलला विराजमान के हक में फैसला सुनाया। साथ ही उच्चतम न्यायालय ने सरकार से मुस्लिम पक्ष को अयोध्या में 5 एकड़ की जमीन देने का आदेश दिया है।

फैसले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन ट्वीट किए। पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘देश के सर्वोच्च न्यायालय ने अयोध्या पर अपना फैसला सुना दिया है। इस फैसले को किसी की हार या जीत के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए। रामभक्ति हो या रहीमभक्ति, ये समय हम सभी के लिए भारतभक्ति की भावना को सशक्त करने का है। देशवासियों से मेरी अपील है कि शांति, सद्भाव और एकता बनाए रखें।’

पीएम मोदी ने आगे लिखा, ‘सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला कई वजहों से महत्वपूर्ण है: यह बताता है कि किसी विवाद को सुलझाने में कानूनी प्रक्रिया का पालन कितना अहम है। हर पक्ष को अपनी-अपनी दलील रखने के लिए पर्याप्त समय और अवसर दिया गया। न्याय के मंदिर ने दशकों पुराने मामले का सौहार्दपूर्ण तरीके से समाधान कर दिया।’

पीएम मोदी ने आगे लिखा, ‘यह फैसला न्यायिक प्रक्रियाओं में जन सामान्य के विश्वास को और मजबूत करेगा। हमारे देश की हजारों साल पुरानी भाईचारे की भावना के अनुरूप हम 130 करोड़ भारतीयों को शांति और संयम का परिचय देना है। भारत के शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व की अंतर्निहित भावना का परिचय देना है।’

 

नेशनल

राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री ने लोगों को दी मिलाद-उन-नबी की बधाई

Published

on

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को पैगंबर मुहम्मद के जन्मदिन मिलाद-उन-नबी के अवसर पर लोगों को बधाई दी।

राष्ट्रपति ने शुभकामनाएं देते हुए ट्विटर पर लिखा, “पैगंबर मुहम्मद (स.) के जन्मदिन, मिलाद-उन-नब़ी के मुबारक मौके पर, मैं सभी देशवासियों, विशेष रूप से अपने मुस्लिम भाई-बहनों को शुभकामनाएं देता हूं।

आइए, हम सब उनके जीवन से प्रेरणा लेकर आपसी भाईचारे और रहमदिली के साथ सभी की खुशहाली के लिए कार्य करें।” प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, ” मिलाद-उन-नबी की बधाई। पैगंबर मुहम्मद के विचारों से प्रेरित होकर, यह दिन समाज में सद्भाव और करुणा की भावना का प्रसार करे। चारों ओर शांति हो।”

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending