Connect with us

प्रादेशिक

शरद पवार ने दिया बड़ा बयान, कहा- हम विपक्ष में बैठेंगे

Published

on

मुंबई। विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद महाराष्ट्र में मचे सियासी घमासान में नया मोड़ आ गया है। कई दिनों से शिवसेना-एनसीपी के गठबंधन को लेकर लगाए जा रहे कयासों पर बुधवार को शरद पवार ने विराम लाग दिया।

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यह साफ कर दिया कि उनकी पार्टी शिवसेना के साथ गठबंधन नहीं कर रही है। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र की जनता ने उन्हें विपक्ष में बैठने का आदेश दिया है।

एनसीपी अध्यक्ष ने कहा, मेरे पास फिलहाल कुछ भी कहने को नहीं है। लोगों ने भाजपा और शिवसेना को जनादेश दिया है। इसलिए उन्हें जितनी जल्दी हो सके सरकार बनानी चाहिए।

हमे विपक्ष में बैठने का जनादेश मिला है। भाजपा और शिवसेना के बीच जारी तकरार पर पवार ने कहा कि जिन लोगों को महाराष्ट्र की जनता ने जनादेश दिया है, वे मिलकर इस मसले का हल निकालें। हम महाराष्ट्र में विपक्ष की भूमिका निभाएंगे।

प्रादेशिक

चिदंबरम की जमानत याचिका हाई कोर्ट ने की खारिज

Published

on

नई दिल्ली। आईएनएक्स मीडिया केस में पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी. चिदंबरम की जमानत याचिका को दिल्ली उच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया है।

चिदंबरम के लिए याचिका खारिज होना किसी झटके से कम नहीं है। हाई कोर्ट के फैसले के बाद पी.चिदंबरम को अभी जेल में रहना होगा।

दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान शुक्रवार को जस्टिस सुरेश कैथ ने कहा कि अगर इस स्टेज पर चिदंबरम को जमानत दी जाती है तो 70 बेनामी बैंक एकाउंट समेत शेल कंपनी और मनी ट्रेल को साबित करना जांच एजेंसी के लिए मुश्किल हो जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट ने तर्क देते हुए कहा कि जनहित में पी. चिदंबरम की जमानत अर्जी को खारिज किया जाता है। इस अपराध के कारण आर्थिक रूप से देश का नुकसान हुआ है।

बता दें कि दो दिन पहले ही दिल्ली हाईकोर्ट ने पी चिदंबरम की जमानत अर्जी खारिज करते हुए उनकी न्यायिक हिरासत 27 नवंबर तक के लिए बढ़ा दी थी।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending