Connect with us

प्रादेशिक

हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी की गला रेतकर हत्या

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी के घर में घुसकर बदमाशों ने उनपर चाकू 15 से ज्यादा बार वार किए।

गंभीर हालत में ट्रामा सेंटर में भर्ती कराए गए कमलेश की इलाज के दौरान मौत हो गई। घटना शुक्रवार के दिन के समय की है। रिपोर्ट्स के मुताबिक खुर्शीद बाग स्थित हिंदू समाज पार्टी कार्यालय में चाय पीने आए बदमाश मिठाई के डिब्बे में चाकू और तमंचा लाए थे।

घटना को अंजाम देने के बाद बदमाश फरार हो गए। पुलिस टीम सेल फोन की डिटेल खंगालने के साथ ही सर्विलांस की मदद से आरोपी की तलाश में जुट गई है।

घटनास्थल से पुलिस ने तमंचा और कारतूस बरामद किए हैं। शुरूआती जांच में  कमलेश तिवारी के गले पर गहरी के निशान भी पाए गए हैं। जिससे माना जा रहा है कि हमलावरों ने गोली के साथ-साथ गले पर तेजधार हथियार से हमला किया है।

बता दें कि तब हिंदू महासभा के नेता कमलेश तिवारी ने दिसंबर, 2015 में पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ विवादित बयान दिया था। इसे लेकर काफी हंगामा हुआ था, जिसके बाद कमलेश तिवारी की विवादित बयान देने के चलते गिरफ्तारी हुई थी।

वह फिलहाल जमानत पर रिहा चल रहे थे। इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने अभी हाल ही में कमलेश तिवारी पर लगी राष्ट्रीय सुरक्षा कानून(रासुका) हटा दिया था।

प्रादेशिक

बीजेपी का सोनिया गांधी को जवाब, रविशंकर बोले-राजधर्म के नाम पर लोगों को न भड़काए

Published

on

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने दिल्ली हिंसा मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर पलटवार करते हुए कहा कि वे हमें राजधर्म का उपदेश नहीं दें। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर पलटवार करते हुए कहा कि वे हमें राजधर्म का उपदेश नहीं दें।

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने गुरुवार को कांग्रेस पार्टी राष्ट्रपति के पास गई और राजधर्म की बात की। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश से आए अल्पसंख्यकों को लेकर पार्टी का एक स्टैंड रहा है।

अशोक गहलोत, शिवराज पाटिल ने भी तब इसकी मांग की थी। आपने इस राजधर्म के मसले को उठाया, अब हम इसे पूरा कर रहे हैं।

रविशंकर प्रसाद ने सोनिया गांधी के बयान का हवाला देते हुए कहा कि रामलीला मैदान में आपने उकसाने वाली भाषा का प्रयोग किया। आपकी ही सरकार ने 2010 में NPR का नोटिफिकेशन जारी किया, अगर आप करें तो ठीक लेकिन हम करें तो आप लोगों को भड़काना शुरू कर देते हैं।

 

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending