Connect with us

प्रादेशिक

यूपी स्टेट कुंग फू चैंपियनशिप के पहले दिन लखनऊ के खिलाड़ियों का जलवा, जीते 3 स्वर्ण

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश कुंगफूसंघ के तत्वावधान में केडी सिंह बाबू स्टेडियम के बहुउद्देशीय हाल में 15 अक्टूबर 2019 के दिन 11:30 बजे से यूपी स्टेट कुंग फू चैंपियनशिप शुरू हुई।

उत्तर प्रदेश कुंग फू संघ के महासचिव ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी ने बताया कि करीब 15 राज्यों के 160 महिला पुरुष कुंगफू खिलाड़ी इस प्रतियोगिता में सब जूनियर जूनियर सीनियर कैटेगरी में खेल रहे हैं।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि कमला कान्त गौतम ने प्रतियोगिता का उद्धाटन किया गया। एक रंगारंग कार्यक्रम में मुख्य अतिथि ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

इस मौके पर कई जिलों से आए हुए कुंगफू के सचिवों व खिलाड़ियों ने मुख्य अतिथि को अपना परिचय प्रदान किया कार्यक्रम पर बोलते हुए विशिष्ट अतिथि के रूप में चंद्रसेन वर्मा उपाध्यक्ष भारतीय कुंग फू संघ ने कुंगफू के इतिहास पर बारीकियों से प्रकाश डालते हुए आज के परिपेक्ष्य में समाज मे इसके प्रभाव और आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कुंग फू एक लोकप्रिय भारतीय खेल है जो कि पूरे विश्व में बहुत तेजी से फैल रहा है। यह कला भारत के द्वारा चीन को चलाई गई थी, जो आज पूरे विश्व में बड़े ही चाव के साथ में खेली जाती है।

इस मौके पर लखनऊ के खिलाड़ियों ने कुंगफू की कई कलाओं का विहंगम प्रदर्शन करके उपस्थित जनसमूह को रोमांचित कर दिया कौशांबी से आए खिलाड़ियों ने तलवार का प्रदर्शन करते हुए दिखाया कि किस प्रकार से तलवारबाजी का प्रयोग किया जाए।

जौनपुर से आए खिलाड़ियों ने लाठी का प्रयोग करके दिखाया कि किस प्रकार से साधारण लोग भी अपनी आत्मरक्षा कर सकते हैं। इसके अलावा झांसी से आए हुए 16 सदस्यों ने एक बेहतरीन
फाइट का प्रदर्शन किया। कल ( 16अक्टूबर 2019 ) सायंकाल 5:00 बजे प्रतियोगिता का समापन समारोह होगा।

कार्यक्रम के अंत में मुख्य अतिथि को स्मृति चिन्ह प्रदान किया गया। प्रतियोगिता के पहले दिन के मुकाबले शुरू हुए जिसमें परिणाम निम्नानुसार है –

पहले दिन लखनऊ के खिलाड़ियों ने 3 स्वर्ण पदक जीते

बेयर हैन्ड प्रतियोगिता
में कौशिकी मिश्रा स्वर्ण पदक, लखनऊ
शिवांगी नारायण ने जीता रजत पदक, कानपुर
हिमा जयसवाल कांस्य पदक, बहराइच

ताई ची प्रतियोगिता में आशिका अग्रवाल ने जीता स्वर्ण पदक
मोहिनी सिंह ने जीता रजत पदक, जौनपुर

ज्योति देवी गोंडा , कान्स्य

सचिन, स्वर्ण पदक लखनऊ

प्रादेशिक

लखनऊ की दिव्यांशी ने CBSE की 12वीं की परीक्षा में रचा इतिहास, हासिल किए 600 में 600 अंक

Published

on

लखनऊ। लखनऊ के नवयुग रेडियंस कॉलेज की छात्रा दिव्यांशी जैन ने 12वीं की परीक्षा में 100% अंक हासिल कर इतिहास रच दिया है। दिव्यांशी ने 600 में 600 अंक हासिल किए हैं। दिव्यांशी जैन हिस्ट्री, ज्योग्राफी, इकोनॉमिक्स, इंश्योरेंस, संस्कृत और इंग्लिश विषयों से 12वीं की पढ़ाई कर रही थीं। इस साल की परीक्षा में उनके सभी विषयों में 100 फीसदी मार्क्स आए हैं।

दिव्यांशी ने कहा कि उसने कभी कोचिंग नही ली और सिर्फ स्कूल में पढ़ाए गए पाठ को रटने के बजाय समझ कर कंठस्थ करने का प्रयास किया। उसने शॉर्ट नोट्स बनाए, लेकिन कभी गाइड का सहारा नहीं लिया, बल्कि एनसीईआरटी की किताबो से ही पढ़ा। दिव्यांशी के पिता राजेश जैन स्टेशनरी का व्यवसाय करते हैं। वहीं मां सीमा जैन गृहणी हैं। उनकी बड़ी बहन श्रेयांशी जैन स्नातक में पढ़ती हैं। उनके पिता राजेश प्रकाश जैन ने कहा कि हमें बेटी पर गर्व है। उसने अपनी मेहनत से हमारा सपना पूरा कर दिया है।

दिव्यांशी को यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने बधाई दी है। ट्विटर पर अखिलेश ने लिखा है कि ‘सीबीएसई बोर्ड की इंटरमीडिएट परीक्षा में शत प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाली लखनऊ की छात्रा दिव्यांशी जैन को बहुत-बहुत बधाई एवं उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं।’

यह है दिव्यांशी की रिपोर्ट कार्ड
अंग्रेजी 100
संस्कृत 100
भूगोल 100
अर्थशास्त्र 100
इंश्योरेंस 100
इतिहास 100

#lucknow #divynashijain #12th result #cbse

Continue Reading

Trending