Connect with us

प्रादेशिक

महाराष्ट्र विधानसभा चुनावः बीजेपी ने जारी की चौथी लिस्ट, इस दिग्गज नेता का कटा टिकट

Published

on

मुंबई। महाराष्ट्र में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सभी पार्टियां सत्ता पाने के लिए पूरा जोर लगा रही हैं। जहां एक ओर कांग्रेस के लिए दोबारा अपनी खोई सियासी जमीन पाने की चुनौती है वहीं बीजेपी-शिवसेना के लिए भी दोबारा सत्ता हासिल करने की चुनौती है।

गठबंधन में बीजेपी-शिवसेना की सीटें तय हो जाने के बाद बीजेपी ने विधानसभा चुनाव के लिए अपनी चौथी लिस्ट भी जारी कर दी है। बीजेपी ने शुक्रवार को अपनी चौथी लिस्ट जारी कर दी।

इस सूची में मंत्री विनोद तावडे का टिकट कट गया। साथ ही प्रकाश मेहता और राज पुरोहित को भी टिकट नहीं दिया गया है। भाजपा द्वारा जारी की इस सूची में काटोल से चरण सिंह ठाकुर, तुमसार से प्रदीप पटोले, नासिक पूर्व से राहुल ढिकाले, बोरिवली से सुनील राणे को टिकट दिया गया है।

भाजपा नेता एकनाथ खडसे की बेटी रोहनी खडसे को मुक्ताई नगर से भाजपा ने मैदान में उतारा है। घाटकोपर पूर्व से पराग शाह विपक्षी पार्टियों को टक्कर देते हुए नजर आएंगे।

भाजपा ने कोलाबा से राहुल नरवेकर को टिकट दिया है।  प्रकाश मेहता और विनोद तावड़े दोनों ही भाजपा के वरिष्ठ नेता हैं। 2014 में भाजपा की सरकार बनने के बाद इन नेताओं को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया। विनोद तावड़े भाजपा के वरिष्ठ नेता हैं और फडणवीस कैबिनेट में मंत्री हैं। तावड़े बोरीवली सीट से विधायक हैं।

प्रादेशिक

मनीष सिसोदिया की मुश्किलें बढ़ीं, हाई कोर्ट ने जारी किया नोटिस

Published

on

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं। मनीष सिसोदिया पर दिल्ली विधानसभा चुनाव में हलफनामे में गलत सूचना देने का आरोप है।

शुक्रवार को मामले पर  सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने मनीष सिसोदिया को नोटिस जारी कर दिया। सिसोदिया के खिलाफ यह याचिका पटपड़गंज से बीजेपी के उम्मीदवार रहे रविंद्र नेगी ने दाखिल की थी।

बीजेपी उम्मीदवार रविंद्र नेगी ने हाईकोर्ट में दाखिल अपनी याचिका में कहा था कि मनीष सिसोदिया ने अपने नामांकन पत्र में अपने आपराधिक मामलों की जानकारी नहीं दी थी।

सिसोदिया पर अपने खिलाफ दर्ज एफआईआर मामले को छिपाने का आरोप है, जिसमें आरोप है कि उन्होंने संतोष कोली की मौत के बाद इंडियन फ्लैग को जलाया था।

इस मामले में दिल्ली की कोर्ट में उनके खिलाफ चार्जशीट भी दिल्ली पुलिस दाखिल कर चुकी है। साथ ही सिसोदिया पर चुनाव आयोग की गाइडलाइंस का उल्लंघन का आरोप है।

सिसोदिया पर यह भी आरोप है कि उन्होंने 2018 में अपना फ्लैट बेच दिया था, लेकिन अपना पुराना वोटर आई कार्ड का इस्तेमाल कर रहे हैं। अब इस मामले की अगली सुनवाई 29 मई को होगी।

प्रचार मानदंडों का कथित रूप से उल्लंघन करने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट में दो याचिकाएं दायर की गई हैं। इस याचिका में दोनों के निर्वाचन को चुनौती दी गई है। इसे लेकर सिसोदिया को दिल्ली हाई कोर्ट ने नोटिस जारी किया है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending