Connect with us

प्रादेशिक

महाराष्ट्र में चुनाव से पहले कांग्रेस को झटका, बागी हुए ये बड़े नेता

Published

on

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी को तगड़ा झटका लगा है। महाराष्ट्र कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संजय निरूपम ने पार्टी आलाकमान से नाराजगी जाहिर करते हुए विधानसभा चुनाव के दौरान प्रचार करने से इनकार कर दिया है।

टिकट बंटवारे को लेकर नाराज निरूपम ने शुक्रवा को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने कहा कि दिल्ली में बैठे लोगों को समझ की कमी है। पार्टी ने योग्य लोगों के साथ न्याय नहीं किया।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ जुड़े लोग साजिश रच रहे हैं। निरुपम ने आगे कहा कि राहुल गांधी का समर्थन करने वाले लोगों को पार्टी में अलग-थलग किया जा रहा है।

अगर ऐसा ही रहा तो वह लंबे समय तक कांग्रेस में नहीं रह पाएंगे। निरूपम ने कहा कि कांग्रेस में अब फीडबैक सिस्टम खत्म हो गया है। महाराष्ट्र कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने वर्सोवा सीट से अपने उम्मीदवार को टिकट नहीं दिए जाने पर भी सवाल उठाए और दावा किया कि वह सही प्रत्याशी को टिकट देने के लिए कह रहे थे।

उन्होंने स्वयं को चुनाव प्रचार अभियान से अलग रखने का ऐलान करते हुए कहा कि कुछ सीटों को छोड़ दें तो कांग्रेस उम्मीदवारों की जमानत जब्त होगी।

प्रादेशिक

राजस्थान के बूंदी में बड़ा हादसा, नदी में बस गिरने से 25 की मौत, 5 घायल

Published

on

जयपुर। राजस्थान के बूंदी जिले में बुधवार को बड़ा हादसा हो गया। यहां बारातियों से भरी बस नदी में जा गिरी। हादसे में 25 लोगों की मौत की आशंका है जबकि 5 लोगों को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती किया गया है।

घटना कोटा-दौसा मेगा हाइवे की है। फिलहाल, एनडीआरएफ और प्रशासन की टीम राहत और बचाव कार्य में जुटी हुई है। पुलिस के मुताबिक, कोटा के दादीबाड़ी से बरातियों से भरी बस सवाई माधोपुर जा रहे थे।

कोटा-लालसोट मेगा हाइवे पर बस अनियंत्रित होकर मेज नदी में जा गिरी। हादसे की भनक लगते ही ग्रामीण मौके पर पहुंच गए और बस में सवार लोगों को बचाने की कोशिश में जुट गए। पुलिस और प्रशासन को भी सूचना दी गई।

हादसे पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गहरा दुख जताया है। उन्होंने कहा कि मुझे बूंदी में हुए दुखद हादसे के बारे में जानकर गहरा दुख हुआ है, जिसमें करीब 25 लोग बस के नदी में गिर जाने के बाद जान गंवा चुके हैं। शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना है, जिन्होंने इस त्रासदी में अपने प्रियजनों को खो दिया है। मैं सभी घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं।

हादसे में मारे गए लोगों को गहलोत सरकार ने तत्काल मदद देने का निर्देश दिया है। साथ ही मृतकों को 2-2 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा भी की गई है।

बूंदी की जिलाधिकारी अंतर सिंह नेहरा ने के मुताबिक अब तक 12-13 शव बाहर निकाले जा चुके हैं और बस में फंसे लोगों को बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending