Connect with us

नेशनल

एसआईटी पूछताछ में अहम खुलासा, छात्रा ने मांगी थी चिन्मयानंद से पांच करोड़ की रंगदारी

Published

on

शाहजहांपुर। बीजेपी के वरिष्ठ नेता स्वामी चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाली छात्रा को आज पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने छात्रा को अदालत में पेश किया। जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। इस बीच एसआईटी ने कहा कि छात्रा ने खुद चिन्मयानंद से 5 करोड़ रु। रंगदारी मांगने की बात स्वीकार की है।

छात्रा की गिरफ्तारी के बाद एसआईटी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। एसआईटी टीम में शामिल आईपीएस भारती सिंह ने कहा कि चिन्मयानंद से 5 करोड़ रुपए की रंगदारी मांगने के प्रकरण में छात्रा के खिलाफ पुख्ता सबूत है। इन सबूतों की फोरेंसिक लैब से जांच कराई जा चुकी है। जिस वीडियो में पीड़िता और उसके दोस्त रंगदारी मांगने की बातचीत कर रहे हैं, उसकी पुष्टि खुद पीड़िता ने कर दी थी। 5 करोड़ की रंगदारी मांगने की बात भी स्वीकार कर ली थी। जांच अभी जारी है और इस दौरान अगर कोई नया नाम सामने आया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

एसआईटी ने इस छात्रा से मंगलवार को कई घंटे तक पूछताछ की थी। इस छात्रा ने स्वामी चिन्मयानंद पर बलात्कार और यौन शोषण का आरोप लगाया था। मामले का संज्ञान लेते हुए सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार को एसआईटी गठित करने का आदेश दिया था।शीर्ष अदालत ने इलाहाबाद हाई कोर्ट को एसआईटी जांच की निगरानी करने को कहा है।

इस मामले की जांच की निगरानी कर रही इलाहाबाद हाई कोर्ट के पीठ ने सोमवार को छात्रा की अग्रिम जमानत की याचिका खारिज कर दी थी। पीठ ने कहा था कि उसका काम केवल जांच की निगरानी करना है किसी को गिरफ्तारी से राहत देना या स्टे देना नहीं है। हालांकि इलाहाबाद हाई कोर्ट के इस पीठ ने एसआईटी की ओर से की जा रही जांच पर संतोष जताया था। एसआईटी ने शुक्रवार को स्वामी चिन्मयानंद को गरिफ्तार कर लिया था। इसके बाद जएक अदालत ने उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। तबीयत बिगड़ने पर उन्हें लखनऊ के एक अस्पताल में दाखिल कराया गया है,

नेशनल

निर्भया के दोषियों को अब इस तारीख को होगी फांसी, कोर्ट ने जारी किया नया डेथ वारंट

Published

on

नई दिल्ली। निर्भया गैंगरेप केस के चारों दोषियों की फांसी की नई तारीख आ गई है। कोर्ट ने सभी दोषियों के लिए नया डेथ वारंट जारी कर दिया है।

सूत्रों के मुताबिक चारों को 1 फरवरी की सुबह 6 बजे फांसी पर लटकाया जाएगा। चारों दरिंदों के पास अब केवल 350 घंटे ही शेष हैं। बता दें कि शुक्रवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दोषी मुकेश की दया याचिका खारिज कर दी थी।

इससे पहले पटियाला हाउस कोर्ट ने चारों दोषियों को 22 जनवरी सुबह 7 बजे फांसी पर लटकाने की तारीख तय की थी, लेकिन इसके बाद दोषी मुकेश सिंह ने राष्ट्रपति के सक्षम दया याचिका लगा दी थी। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा निर्भया के दोषी मुकेश सिंह की दया याचिका खारिज होने के बाद कोर्ट ने नया डेथ वारंट जारी किया है।

वहीं, इस मामले में नया डेथ वारंट जारी होने के बाद निर्भया की मां आशा देवी ने कहा कि जब तक दोषियों को फांसी पर नहीं लटका दिया जाता है, तब तक मेरी बेटी को न्याय नहीं मिलेगा। मुझको पिछले सात साल से तारीख पर तारीख दी जा रही है। उन्होंने कहा कि हमारा सिस्टम ऐसा है कि जहां दोषी की सुनी जाती है। हर जगह निर्भया के गुनहगारों का ही मानवाधिकार देखा जा रहा है। हमारा मानवाधिकार कोई नहीं देख रहा है।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending