Connect with us

प्रादेशिक

राजस्थान में रिश्ते को शर्मसार करने वाली घटना आई सामने, सगी मौसी ने भांजी को बेचा

Published

on

नई दिल्ली। राजस्थान के धौलपुर में रिश्तों को शर्मसार करने वाला एक मामला सामने आया है। यहां एक महिला ने अपनी बहन की बेटी को 80 हजार रुपये में बेच दिया।

मामला धौलपुर जिले की कंचनपुर थाना क्षेत्र का है। पुलिस को सूत्रों से युवती की खरीद-फरोख्त की सूचना मिली। इसके बाद थाना पुलिस ने मुखबिर की सूचना के आधार पर घेराबंदी करते हुए युवती और एक अन्य संदिग्ध को हिरासत में ले लिया।

22 वर्षीय पीड़िता के मुताबिक वह 18 फरवरी 2019 को उत्तर प्रदेश के महोबा जिले से बांदा जिले में अपनी मौसी के यहां शादी समारोह में शामिल होने के लिए गई थी।

वहीं उसकी मौसी ने उसे धौलपुर जिले के बसईडांग थाना इलाके के बरीपुरा निवासी को 80 हजार रुपये में बेच दिया। जिसके बाद शख्स युवती को नशीला पदार्थ खिलाकर अपने गांव बरीपुरा ले गया और लगभग 6 महीने अपने पास रखा।

युवती के मुताबिक बाद में उस शख्स ने उसे 21 अगस्त को 1 लाख 75 हजार रुपये में बसईडांग थाना क्षेत्र के नगर गांव के एक निवासी को बेच दिया।

दो बार सौदा होने के बाद जब तीसरी जगह सौदा होने की भनक पड़ी तो युवती वहां से भाग निकली और मुखबिर द्वारा कंचनपुर थाना पुलिस को सूचना मिली। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर युवती और एक संदिग्ध को हिरासत में ले लिया। पुलिस ने पीड़ित युवती का बयान लेकर मानव तस्करी का मामला दर्ज कर लिया है।

मामले दर्ज करने के बाद पुलिस ने युवती का मेडिकल कराकर मानव तस्कर यूनिट के प्रभारी मूलचंद मीणा को सुपुर्द कर नारी निकेतन भरतपुर भेज दिया है और आरोपियों के तलाश में जुट गई है।

प्रादेशिक

लोगों को भूत बनकर डराना युवकों को पड़ा भारी, पुलिस ने किया गिरफ्तार

Published

on

नई दिल्ली। बंगलूरू में भूत बनकर लोगों को डराना सात युवकों को भारी पड़ गया। रात में लोगों को भूत बनकर डरा रहे 7 यूट्यूबर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

सभी पर आरोप है कि वह रात में राह चलते लोगों को परेशान कर रहे थे। मामला यशवंतपुर के शरीफानानगर इलाके की है।इससे जुड़ा एक वीडियो भी वायरल हो रहा है जिसमें आरोपी लोगों को डराते नजर आ रहे हैं।

वीडियो में आरोपी युवक खून के धब्बे वाले कपड़े और मुखौटा लगाए भूत की वेशभूषा में लोगों को सड़कों पर डराते देखे जा सकते हैं। पुलिस ने आरोपियों की पहचान शान मलिक, सैमुएल मोहम्मद, मोहम्मद अय्यूब, शाकीब, सैयद नबील, यूसुफ अहमद के रूप में की है।

इनके खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया गया है। जानकारी के अनुसार फिलहाल सभी आरोपियों को जमानत मिल गई है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending