Connect with us

मुख्य समाचार

पीएम मोदी ने लॉन्च किया फिट इंडिया मूवमेंट, बोले-हर नागरिक फिट बनाना हमारा लक्ष्य

Published

on

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में गुरूवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘फिट इंडिया अभियान’ की शुरुआत की। इस अभियान को खेल दिवस के मौके पर लॉन्च किया गया है।

अभियान का उद्घाटन करने के बाद पीएम मोदी ने हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद को याद करते हुए कहा कि आज के ही दिन हमें मेजर ध्यानचंद जैसे स्पोर्ट्समेन मिले थे।

आज पूरा देश उनको नमन कर रहा है। फिट इंडिया मूवमेंट के जरिए हेल्दी इंडिया की दिशा में महत्वपूर्ण कदम बढ़ा दिया है। प्रधानमंत्री ने सरकार का लक्ष्य बताते हुए कहा कि न्यू इंडिया में हर नागरिक को फिट करना सरकार का लक्ष्य है।

PM मोदी ने कार्यक्रम में कहा कि आज देश की जरूरत है कि फिट इंडिया को जन आंदोलन बनाया जाए। साथ ही स्पोर्ट्स में जो युवा खिलाड़ी देश का नाम रोशन कर रहे हैं, उससे उनका हौसला बढ़ेगा।

पीएम ने कहा कि हमारी सरकार ने खेल जीवन को बेहतर बनाने के लिए कई कदम उठाए हैं। मोदी बोले कि फिटनेस सिर्फ शब्द नहीं है, बल्कि स्वस्थ जीवन जीने के लिए जरूरी शर्त है।

फिटनेस के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा कि स्वस्थ रहने और फिट रहने का फंडा हमारे पूर्वजों के समय से चलता आ रहा है। उन्होंने इस दौरान संस्कृत का श्लोक सुनाया और फिटनेस के लाभ बताए।

PM मोदी ने कहा कि फिटनेस हमारे जीवन के तौर तरीकों का अभिन्न अंग रहा है, समय के साथ फिटनेस को लेकर सोसाइटी में उदासीनता आती रही है।

PM ने कार्यक्रम में कहा कि कुछ दशक पहले तक एक सामान्य व्यक्ति पैदल चल लेता था, कुछ ना कुछ फिटनेस के लिए करता ही था, लेकिन आज टेक्नोलॉजी की वजह हमें पता चल रहा है कि कितने कदम चल दिए हैं।

पीएम बोले कि आज भारत में कई तरह की बीमारी बढ़ रही हैं, आज 30 साल के युवक को भी हार्ट अटैक की खबर आती है। उन्होंने कहा कि ये हमारे लाइफस्टाइल की वजह से हो रहा है, उन्होंने कहा कि सरकार अपना काम करेगी लेकिन हर परिवार को इसके बारे में सोचना चाहिए।

आपको बता दें कि फिट इंडिया कार्यक्रम दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में चल रहा है जहां बीजेपी के सांसद गौतम गंभीर, मनोज तिवारी, अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी समेत कई बड़े सेलेब्रिटी मौजूद हैं।

उत्तराखंड

चमोली सड़क हादसे में मृतक के परिजनों को सीएम त्रिवेंद्र ने 2-2 लाख रुपए देने का किया एलान

Published

on

देहरादून। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने जनपद चमोली के तहसील थराली के देवाल के पास हुई वाहन दुर्घटना में मृतक परिजनों को 2-2 लाख रूपए व गम्भीर घायलों को 50-50 हजार रूपए की सहायता मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से दिए जाने के निर्देश दिए हैं।

उत्तराखंड में वलाण-देवाल मार्ग पर वाहन के कैल नदी में गिर जाने से वलाण गांव के आठ लोगों की मौत हो गई थी। हादसे में पांच लोग घायल हो गए जबकि एक लापता है।

दो घायलों को श्रीनगर रेफर कर दिया गया है। यह सभी लोग गांव के एक बुजुर्ग की अंत्येष्टि में शामिल होने के लिए वलाण से देवाल आ रहे थे।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending