Connect with us

प्रादेशिक

राजधानी दिल्ली में उज्बेक महिला के साथ चलती कार में गैंगरेप

Published

on

नई दिल्ली। दक्षिण-पश्चिम जिले के थाना वसंत कुंज इलाके में एक उज्बेकिस्तानी महिला के साथ गैंग रेप का मामला दर्ज किया गया है। गैंगरेप की इस घटना को अंजाम स्कॉर्पियो कार के अंदर दिया गया। इस सिलसिले में पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

जिला पुलिस के एक अधिकारी ने थाना वसंत कुंज में इस सिलसिले में केस दर्ज किये जाने की पुष्टि की है। अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। थाने में दर्ज शिकायत के मुताबिक पीड़ित महिला की उम्र 31 साल है। जबकि मुख्य आरोपी की उम्र 25 साल है। मुख्य आरोपी और महिला पहले से एक दूसरे को अच्छी तरह से जानते थे।

पुलिस को मिली शिकायत में महिला द्वारा आरोप लगाया गया है कि उसे मुख्य आरोपी ने बहाने से वसंत कुंज इलाके में 10 अगस्त को बुलाया। जब महिला पहुंची तो उसके परिचित ने अपने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर कार में गैंग रेप की इस घटना को अंजाम दिया। पुलिस के मुताबिक महिला ने जब विरोध किया तो उसे बुरी तरह पीटा भी गया। अगले दिन महिला ने पुलिस को सूचना दी। दिल्ली पुलिस के मुताबिक महिला करीब 6 महीने से दिल्ली में रह रही है। जबकि मुख्य आरोपी गुड़गांव का रहने वाला है।

प्रादेशिक

13वीं राष्ट्रीय कुंग फू प्रतियोगिता का लखनऊ में हुआ शुभारम्भ

Published

on

लखनऊ। 13वीं राष्ट्रीय कुंग फू प्रतियोगिता का शुभारम्भ सोमवार को बाबू के.डी.सिंह स्टेडियम के बहुउद्देशीय हाल में हुआ। इस प्रतियोगिता का उद्घाटन भारतीय कुंग फू फेडरेशन के अध्यक्ष डा. सुधीर.एम. बोबड़े और खेल निदेशक डा. आर.पी.सिंह  ने दीप प्रज्जवलित करके किया।

यह जानकारी भारतीय कुंग फू फेडरेशन की महासचिव मंजू त्रिपाठी ने देते हुए कहा कि आज से तीन दिवसीय राष्ट्रीय कुंग फू प्रतियोगिता का शुभारम्भ शुरू हो गया। इस प्रतियोगिता में 18 राज्यों के 500 कुंग फू खिलाड़ी भाग लेंगे।

प्रतियोगिता के उद्घाटन के मौके पर भारतीय कुंग फू फेडरेशन के अध्यक्ष डा. सुधीर.एम. बोबड़े ने कहा कि आज इस खेल की समाज को आवश्यकता है, खास तौर से हमारी बहन-बेटियों को आत्मा रक्षा की इस कला को जरूर सीखना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस खेल का प्रशिक्षण अनिवार्य किया जाए। सरकार  सभी बच्चों को स्कूलों में अनिवार्य रूप से प्रशिक्षण दिलाए।

इस अवसर पर खेल निदेशक डा. आर.पी. सिंह ने कहा कि मार्शल आर्ट्स यानी कुंग फू खेल स्वस्थ भारत, समर्थ भारत और अनुशासित भारत तथा अनुशासित नागरिक तैयार कर सकता है।

आज अधिकतर युवा पीढ़ी खेलों से दूर होती जा रही है। खेलों के बजाय मोबाइल में लगकर अपना जीवन अंधकार में कर रहे है। महिला सशक्तिकरण के लिए ही यह खेल बहुत ही आवश्यक है। इस खेल के जरिए अपनी आत्मा रक्षा कर सकती हैं। उन्होंने कहा कि इस खेल को हर नागरिक को सीखना चाहिए।

इस अवसर पर भारतीय कुंग फू संघ के उपाध्यक्ष डा. चंद्र सेन वर्मा, उपकार के अध्यक्ष कैप्टन विकास गुप्ता, उपनिदेशक शिक्षा कृष्ण कुमार गुप्ता, राजेंद्र कुमार, जे.पी. शुक्ला आदि गणमान्य व्यक्ति व भारी संख्या में जनता मौजूद थी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending