Connect with us

नेशनल

सोनिया गांधी बनीं कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष

Published

on

लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा से मूंकीं खाने के बाद काग्रेंस का मनोबल धरातल पर था। पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने हार की पूरी ज़िम्मेदारी अपने सिर ली और मामले की गंभीरता को देखते हुए अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया । हालांकि, नाताओं ने उनसे इस्तीफा वापस लेने की मांग की पर राहुल गांधी अपने फैसले पर टिके रहे।

इसके बाद शनिवार को कांग्रेस की कार्य समिति ने पार्टी की बागडोर को सोनिया गांधी को सौंपने का फैसला लिया जिसे सोनिया ने मंजूरी भी दे दी। दरअसल, बतौर अध्यक्ष सोनिया गांधी वर्ष 1998 से 2017 तक पार्टी की कमान संभाल चुकी हैं। आपको बता दें कि कांग्रेस कार्यसमिति में अध्यक्ष के पद के लिए पहले तो राहुल, प्रियंका और सोनिया गांधी तीनों ने ही मना कर दिया था। इसके बाद सब ने उन्हें सुझाव दिया कि आप तीनों ही अब कोई नाम तय कर लें , लेकिन जब बात इस पर भी नहीं बन सकी तो कमेटी ने सोनिया को ही इस पद पर बैठाने का निर्णय कर लिया और सोनिया गांधी ने भी इसे अपनी मंजूरी दे दी।

इस फैसले को लेने के लिए कांग्रेस कार्यसमिति की दो बार बैठक हुई। इस दो बार हुई बैठक में तीन प्रस्ताव पारित किए गए । पहले प्रस्ताव में राहुल के पार्टी में किए गए अब तक के योगदान की सराहना की गई तो वहीं दुसरे में सोनिया गांधी के अंतरिम अध्यक्ष नियुक्त किए जाने और तीसरे प्रस्ताव में जम्मू-कश्मीर की स्थिति का उल्लेख किया गया है। आपके बता दें कि पहले प्रस्ताव में बतौर अध्यक्ष रहते हुए राहुल गांधी के योगदान की तारीफ करते हुए लिखा गया है कि राहुल गांधी ने बेबाकी से देश के मुद्दों को उठाया, पार्टी को नई ऊर्जा दी और कांग्रेस के सभी कार्यकर्ताओं को प्रेरित किया।

नेशनल

नक्शा फाड़े जाने पर हिंदू महासभा ने की राजीव धवन के खिलाफ बार काउंसिल में शिकायत

Published

on

नई दिल्ली। अयोध्या जमीन विवाद केस की सुनवाई के अंतिम दिन कुछ ऐसा हो गया कि मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन सुर्खियों में आ गए।

बुधवार को सुनवाई के 40वें दिन हिंदू महासभा के वकील द्वारा एक नक्शा पेश किए जाने के बाद राजीव धवन ने उसे फाड़ दिया। जिसके बाद हिंदू महासभा ने इसकी शिकायत बार काउंसिल ऑफ इंडिया में की है।

हिंदू महासभा ने बार काउंसिल के सामने मामले का संज्ञान लेते हुए राजीव धवन के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को जब हिंदू महासभा के वकील ने किताब और एक नक्शा पेश किया, तो राजीव धवन भड़क गए थे। उन्होंने तब उस नक्शे को फाड़ दिया और पांच टुकड़े कर दिए।

हालांकि, बाद में जब इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में चर्चा हुई तो राजीव धवन ने कहा कि उन्होंने नक्शा चीफ जस्टिस के कहने पर फाड़ा था।

दरअसल, जब हिंदू महासभा के वकील उस पर्चे को दिखा रहे थे तब राजीव धवन ने वह नक्शा छीन लिया और कहा कि वह इस पर जवाब नहीं देंगे। इस पर चीफ जस्टिस ने उनसे कहा कि आप चाहे तो इसे फाड़ दें, तभी राजीव धवन ने नक्शे को फाड़ दिया।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending