Connect with us

मनोरंजन

Pranaam Movie Review: दमदार कहानी और शानदार एक्टिंग से सजी है फिल्म प्रणाम

Published

on

नई दिल्ली। राजीव खंडेलवाल की फिल्म ‘प्रणाम’ 9 अगस्त को रिलीज हो गई। रिलीज के बाद फिल्म को दर्शकों का अच्छा रिस्पॉन्स मिला है। फिल्म में राजीव खंडेलवाल और साउथ एक्ट्रेस समीक्षा सिंह ने मुख्य भूमिका निभाई है। वहीं अतुल कुलकर्णी और अभिमन्यू सिंह जैसे मंझे हुए कलाकार फिल्म में निगेटिव रोल नजर आए हैं।

ये है कहानी

फिल्म की कहानी में उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के इर्द-गिर्द घूमती है। अजय सिंह (राजीव खंडेलवाल) बचपन से आईएएस बनने का सपना देखता है। वह अपने पिता दीनानाथ (एस एम जहीर) के सपने को पूरा करना चाहता है। अजय एक गरीब परिवार का लड़का है जिसके पिता उसे आईएएस बनाने के लिए चपरासी की नौकरी के साथ-साथ पार्ट-टाइम वेटर का काम करते हैं। कॉलेज में साथ पढ़ने वाली मंजरी शुक्ला (समीक्षा सिंह) अजय से प्यार करती है।

वहीं यूनिवर्सिटी का छात्र नेता गनु भैया (अभिमन्यु सिंह) अपराधिक छवि का है जो गैरकानूनी काम करता है। इसी गुंडई में वो पेपर लीक करवा देता है। लेकिन इस पेपर लीक में ईमानदार प्रोफेसर तेज प्रताप सिंह (विक्रम गोखले ) को फंस जाते हैं। इस दौरान परिस्थितियां कुछ ऐसी बनती है कि तेज प्रताप सिंह की बेटी को गनू भैया के गुंडों से बचाने के चक्कर में अजय सिंह के हाथों गनु भैया का कत्ल हो जाता है।

इसके बाद मामले की जांच इन्वेस्टिगेटिव ऑफिसर व पैसों के नशे में चूर (करप्ट) राजपाल सिंह (अतुल कुलकर्णी) करता है। सच्चाई जानते हुए भी वो अजय सिंह को पेपरलीक और हत्या का इल्जाम लगा देता है। जिसके बाद चौतरफा मुसीबत में घिरे अजय को मजबूरी में गैंगस्टर बनना पड़ता है।

निर्देशन

फिल्म का निर्देशन संजीव जायसवाल ने किया है। संजीव 80 के दशक के सिनेमा को बड़े पर्दे पर उतारने में पूरी तरह से कामयाब रहे हैं। कहानी के साथ फिल्म के डायलॉग्स भी संजीव जायसवाल ने ही लिखे हैं। फिल्म का डायलॉग क्षत्रीय बिना जोश ब्राह्मण को संतोष कभी नहीं होता मसाला फिल्म देखने वाले लोगों को काफी पसंद आएगा।

संगीत

फिल्म को संगीत विशाल मिश्रा ने दिया है। गाने फिल्म की डिमांड के हिसाब से हर जगह बिलकुल फिट बैठते हैं। सोनू निगम की आवाज से सजा गाना इलाही लोगों को लंबे समय तक याद रहेगा। फिल्म के बाकी गाने भी पहले ही लोगों के जुबान पर चढ़ चुके हैं।

ऐक्टिंग

राजीव खंडेलवाल ने (अजय सिंह) के किरदार में दमदार नजर आए हैं। समीक्षा सिंह ने भी अपने रोल के साथ पूरा न्याय किया है। फिल्म में नेगेटिव रोल निभाने वाले अतुल कुलकर्णी और अभिमन्यू सिंह के रोल छोटे हैं लेकिन फिल्म में उनकी उपस्थिति कहानी में जान डाल देती है। राजीव के पिता के रोल में एस एस जहीर और विक्रम गोखले जैसे मंझे हुए एक्टरों ने एक बार फिर साबित किया है कि वो हर रोल में अपनी एक्टिंग से बिलकुल फिट बैठ सकते हैं।

मनोरंजन

8 साल तक इस जानलेवा रोग से ग्रस्त थे अमिताभ बच्चन, वर्षों बाद पता चली थी बीमारी

Published

on

मुंबई। सदी के महानायाक अमिताभ बच्चन ने खुद को लेकर एक सनसनीखेज खुलासा किया है। एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने बताया कि उन्हें आठ साल तक टीबी जैसी खतरनाक बीमारी थी और वो इस बात से बिलकुल अंजान थे।

उन्होंने आगे कहा कि ये बताने में उन्हें बुरा नहीं लगता कि वह टीबी के मरीज रह चुके हैं। अमिताभ एनडीटीवी के ‘स्वास्थ्य इंडिया’ की लॉन्चिग के मौके पर डॉक्टर हर्षवर्धन से बातचीत कर रहे थे, और उन्होंने उनसे आग्रह किया कि नियमित जांच के प्रति लोगों को जागरूक किया जाए, ताकि शुरुआत में ही बीमारी का पता चल सके।

बिग बी ने कहा, “मैं हर समय अपने व्यक्तिगत उदाहरण को सबके सामने लाता रहता हूं और कोशिश करता हूं कि आप सबको इसके प्रति जागरूक कर सकूं और मुझे यह सार्वजनिक तौर पर कहते हुए बुरा नहीं लगता है कि मैं एक टीबी का और हेपेटाइटिस बी का मरीज रहा हूं।”

अमिताभ (76) कई सारे स्वास्थ्य अभियानों जैसे पोलियो, हेपेटाइटिस-बी, टीबी और मधुमेह से जुड़े रहे हैं। उन्होंने लोगों से अपील की कि वे इन बीमारियों की जांच करवाएं और इलाज करवाएं।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending