Connect with us

नेशनल

लोकसभा में अमित शाह ने साधा कांग्रेस पर निशाना, कहा-कश्मीर के लिए जान दे देंगे

Published

on

नई दिल्ली। राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल सोमवार को पास होने के बाद मंगलवार को लोकसभा में इस बिल पर चर्चा हो रही है। चर्चा के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने निचले सदन में बिल का विरोध कर रही कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा।

अमित शाह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर, भारत का अभिन्न अंग है। जब भी मैं जम्मू-कश्मीर कहता हूं तो पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) और अक्साई चीन भी इसके अंदर आता है।

क्या कांग्रेस पीओके को भारत का हिस्सा नहीं मानती है। हम इसके लिए जान दे देंगे। लोकसभा में चर्चा के दौरान अमित शाह ने कहा कि हमारे एजेंडे में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) भी शामिल है।

लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी को जवाब देते हुए अमित शाह ने कहा कि 1948 में कश्मीर का विलय का मामला संयुक्त राष्ट्र में पहुंचाया गया था।

उन्होंने कहा कि जम्मू और कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है इसके बारे में कोई कानूनी विवाद नहीं है। अमित शाह ने कहा भारत के संविधान और जम्मू-कश्मीर के संविधान में पूरी स्पष्टता से लिखा हुआ है कि जम्मू-कश्मीर भारत का हिस्सा है।

 

नेशनल

मन की बात में बोले पीएम मोदी, कोरोना काल में लोग संयम के साथ त्योहार मना रहे

Published

on

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को मन की बात 2.0 की 17वीं कड़ी में देशवासियों को दशहरे के पर्व की शुभकामाएं दी। उन्होंने कहा कि दशहरे का ये पर्व, असत्य पर सत्य की जीत का पर्व है। लेकिन, साथ ही, ये एक तरह से संकटों पर धैर्य की जीत का पर्व भी है। प्रधानमंत्री ने इस दौरान सावधानियों के साथ त्योहार मनाने की अपील की।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “आज, आप सभी बहुत संयम के साथ जी रहे हैं, मर्यादा में रहकर पर्व, त्योहार मना रहे हैं, इसलिए, जो लड़ाई हम लड़ रहे हैं, उसमें जीत भी सुनिश्चित है। पहले, दुर्गा पंडाल में, मां के दर्शनों के लिए इतनी भीड़ जुट जाती थी- एकदम, मेले जैसा माहौल रहता था, लेकिन, इस बार ऐसा नहीं हो पाया।”

मोदी ने कहा, “पहले, दशहरे पर भी बड़े-बड़े मेले लगते थे, लेकिन इस बार उनका स्वरूप भी अलग ही है। रामलीला का त्योहार भी, उसका बहुत बड़ा आकर्षण था, लेकिन उसमें भी कुछ-न-कुछ पाबंदियां लगी हैं। पहले, नवरात्र पर, गुजरात के गरबा की गूंज हर तरफ छाई रहती थी, इस बार, बड़े-बड़े आयोजन सब बंद हैं।”

प्रधानमंत्री ने कहा, “अभी, आगे और भी कई पर्व आने वाले हैं। अभी ईद है, शरद पूर्णिमा है, वाल्मीकि जयंती है, फिर, धनतेरस, दिवाली, भाई-दूज, छठी मैया की पूजा है, गुरु नानक देव जी की जयंती है- कोरोना के इस संकट काल में, हमें संयम से ही काम लेना है, मर्यादा में ही रहना है।”

Continue Reading

Trending