Connect with us

नेशनल

ट्रंप के बयान पर संसद में हंगामा, विपक्ष ने की पीएम मोदी से स्पष्टीकरण की मांग

Published

on

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कश्मीर पर मध्यस्थता को लेकर दिए बयान के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कांग्रेस समेत सभी विपक्षी दल के निशाने पर आ गए हैं।

इस मामले में सोमवार को संसद में जमकर हंगामा हुआ। विपक्षी पार्टियां इस मामले पर खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से संसद में स्पष्टीकरण देने की मांग कर रहे हैं।

साथ ही, कांग्रेस ने लोकसभा में काम रोको प्रस्ताव भी पेश कर दिया। यूपीए संयोजक और कांग्रेस नेता सोनिया गांधी ने भी इस मामले में पीएम के बयान की मांग की।

इस बीच विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने इस मुद्दे पर आधिकारिक बयान दिया, उन्होंने कहा कि कश्मीर भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय मुद्दा है।

इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से किसी तरह की मध्यस्थता की पेशकश नहीं की गई है। राज्यसभा में विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर जो दावा किया है वह बिल्कुल गलत है, पीएम मोदी ने इस तरह की कोई मांग नहीं की है। उन्होंने कहा कि मैं सदन को विश्वास दिलाता हूं कि ये दावा पूरी तरह से गलत है।

विदेश मंत्री बोले कि भारत लगातार कहता रहा है कि पाकिस्तान के साथ जो भी बातें होनी हैं वह सिर्फ द्विपक्षीय मुद्दा हैं। पाकिस्तान से किसी भी तरह के मसले पर तभी बात हो सकती है, जब वह आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करेगा।

मैं कहना चाहूंगा कि शिमला और लाहौर समझौते के तहत ये तय हुआ था कि पाकिस्तान के साथ हर मुद्दा द्विपक्षीय ही सुलझ सकता है।

नेशनल

नक्शा फाड़े जाने पर हिंदू महासभा ने की राजीव धवन के खिलाफ बार काउंसिल में शिकायत

Published

on

नई दिल्ली। अयोध्या जमीन विवाद केस की सुनवाई के अंतिम दिन कुछ ऐसा हो गया कि मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन सुर्खियों में आ गए।

बुधवार को सुनवाई के 40वें दिन हिंदू महासभा के वकील द्वारा एक नक्शा पेश किए जाने के बाद राजीव धवन ने उसे फाड़ दिया। जिसके बाद हिंदू महासभा ने इसकी शिकायत बार काउंसिल ऑफ इंडिया में की है।

हिंदू महासभा ने बार काउंसिल के सामने मामले का संज्ञान लेते हुए राजीव धवन के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को जब हिंदू महासभा के वकील ने किताब और एक नक्शा पेश किया, तो राजीव धवन भड़क गए थे। उन्होंने तब उस नक्शे को फाड़ दिया और पांच टुकड़े कर दिए।

हालांकि, बाद में जब इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में चर्चा हुई तो राजीव धवन ने कहा कि उन्होंने नक्शा चीफ जस्टिस के कहने पर फाड़ा था।

दरअसल, जब हिंदू महासभा के वकील उस पर्चे को दिखा रहे थे तब राजीव धवन ने वह नक्शा छीन लिया और कहा कि वह इस पर जवाब नहीं देंगे। इस पर चीफ जस्टिस ने उनसे कहा कि आप चाहे तो इसे फाड़ दें, तभी राजीव धवन ने नक्शे को फाड़ दिया।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending