Connect with us

उत्तराखंड

उत्तराखंड में WMA ने रखी वेब पत्रकारों के हक की बात, बनाई गई रणनीति

Published

on

उत्तराखंड के देहरादून में वेब मीडिया पत्रकारो की एक बड़ी मीटिंग हुई जिसमें भारी बारिश के बावजूद वेब मीडिया पत्रकारो ने भाग लिया। इस मीटिंग की अध्यक्षता चंद्रशेखर जोशी राष्ट्रीय अध्यक्ष नेशनल वेब मीडिया एसोसिएशन ने की तथा संचालन वरिष्ठ पत्रकार शिवप्रसाद सेमवाल ने किया। वेब मीडिया के पत्रकारों ने इस बात पर क्षोभ प्रकट किया कि उत्तराखंड में वेब मीडिया नियमावली होने के बाबजूद भी वेब मीडिया को उपेक्षित किया जा रहा है।

 

मीटिंग में सभी पत्रकारो ने अपनी बात रखी तथा एक फोरम के नीचे आकर संघर्ष करने की आवश्यकता पर बल दिया। अंत मे सर्वसम्मति से यह तय किया गया कि राष्ट्रीय स्तर पर कार्य कर रहे वेब मीडिया एसोसिएशन के बैनर तले एकजुट होकर कार्य किया जाएगा। वेब मीडिया के पत्रकारों ने कहा कि वेब मीडिया में आने वाली वेबसाइटों के लिये संगठन की आचार संहिता बनाये जाने की भी आवश्यकता है, जिससे इस वेब मीडिया में पाक-साफ व्यक्ति ही विशुद्ध रूप से पत्रकारिता करे। इस नेक कार्य मे सरकार भी सहयोग कर सकती है तथा सूचना विभाग विज्ञापन हेतु इम्पेनल करते समय इस मानक को भी दृष्टिगत रख सकता है।

संचालन करते हुए वरिष्ठ पत्रकार शिव प्रसाद सेमवाल ने भारी बारिश के बाद भी भारी संख्या में पत्रकारो के उपस्थित होने पर उनका आभार जताया। वही, वरिष्ठ पत्रकारों ने वेब मीडिया एसोसिएशन संगठन के बैनर तले आने पर अपनी सहमति प्रदान की तथा शीघ्र ही एक बड़ी राज्य व्यापी मीटिंग आहूत किये जाने की रणनीति तैयार की गई। अंत मे वेब मीडिया एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर जोशी सम्पादक ‘हिमालयायूके” न्यूस्पोर्टल ने अपने लंबे संबोधन में इस बात पर प्रसन्नता जताई कि उत्तराखंड के समस्त पत्रकारो ने वेब मीडिया एसोसिएशन संगठन के बैनर तले आने हेतु सहमति जताई गई है।

जोशी ने बताया कि यह एसोसिएशन 2014 में लखनऊ से पंजीकृत है जो देश की पहली वेब मीडिया एसोसिएशन है, जिसके पदाधिकारी लखनऊ, नई देल्ली, हरियाणा, पंजाब, कर्नाटक, गुजरात, आसाम, उत्तराखंड तमिलनाडु, केरल आदि राज्यो से है। एसोसिएशन देश के सभी राज्यो में वेब मीडिया नियमावली लागू करवाने के लिये प्रयास कर रही है। वेब मीडिया एसोसिएशन के राष्ट्रीय संरक्षक डॉ। चंद्रसेन (वरिष्ठ पत्रकार लखनऊ) तथा राष्ट्रीय महासचिव डॉ मो कामरान (वरिष्ठ पत्रकार लखनऊ) के प्रयासों से 26 जुलाई को वेब मीडिया एसोसिएशन कोर ग्रुप की मीटिंग लखनऊ में रखी गई है, जिसमे अनेक राज्यो से वरिष्ठ पत्रकारों को राष्ट्रीय स्तर पर लिये जाने हेतु वार्ता होनी है।

 

इसके अलावा वेब मीडिया को राज्य सरकार तवज्जो दे, इसके लिये यह जरूरी है कि राष्ट्रीय स्तर पर वेब मीडिया के पत्रकारो का एक सशक्त संगठन तैयार हो। इसके लिये हम राष्ट्रीय स्तर पर कार्य कर रहे है। वेब मीडिया एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि यह बड़ी प्रसन्नता का विषय है कि पूरे उत्तराखंड के वेब मीडिया के पत्रकारों ने सर्वसम्मति से वेब मीडिया एसोसिएशन की सद्स्यता लेने की सहमति जताई है। वेब मीडिया एसोसिएशन की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के अलावा हर राज्य में प्रदेश कार्यकारिणी कार्य कर रही है। शीघ्र ही नई दिल्ली में वेब मीडिया का राष्ट्रीय सम्मेलन होगा जिसमें हर राज्य से वेब मीडिया के पत्रकारो को संम्मानित भी किया जाएगा।

उत्तराखंड

कृषी विधेयकों से किसानों की दशा व दिशा में क्रांतिकारी बदलाव आएंगे – त्रिवेंद्र सिंह रावत

Published

on

By

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा है कि कृषी विधेयकों से किसानों की दशा व दिशा में क्रांतिकारी बदलाव आएंगे। किसान अपनी उपज अच्छी कीमतों पर मंडी में या मंडी के बाहर कहीं भी बेच सकेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीने किसान कल्याण के लिए अभूतपूर्व कदम उठाए हैं।

गुजरात: सूरत के ONGC प्लांट में लेबनान जैसा ब्लास्ट, देखें वीडियो

किसानों की सुविधा के लिए उन्हें घर पर ही ऑनलाइन पंजीकरण कराने तथा टोकन उपलब्ध कराने की व्यवस्था के भी निर्देश दिए। ए-ग्रेड धान का मूल्य रु1888 प्रति क्विंटल तथा औसत धान का रु1868 प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है।

सचिवालय परिसर में खरीफ-खरीद सत्र 2020-21 के लिए धान क्रय सम्बन्धी व्यवस्थाओं की समीक्षा करते हुए सीएम रावत ने कहा कि इस वर्ष 242 धान क्रय केन्द्रों के माध्यम से 10 लाख मीट्रिक टन धान क्रय का लक्ष्य है। इस वर्ष धान क्रय ई-खरीद साफ्टवेयर के माध्यम से करने के आदेश दिए।

#kisan #agriculturebills #farmer #india

Continue Reading

Trending