Connect with us

प्रादेशिक

मध्य प्रदेश में मदरसे के बच्चों ने लगाए पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे? सच जानें यहां…..

Published

on

भोपाल। सोशल मीडिया पर इन दिनों एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो को लेकर दावा किया जा रहा है कि मध्य प्रदेश के एक मदरसे के बच्चों ने पाकिस्तान जिन्दाबाद के नारे लगाए हैं।

वायरल वीडियो को मंदसौर का बताकर तेजी से शेयर किया जा रहा है। वीडियो में बच्चों के साथ कुछ पुलिस वाले भी नजर आ रहे हैं।

फेसबुक पर इस वीडियो को Kajal Yadav नाम की एक यूजर ने पोस्ट किया था जिसे अबतक लगभग 1300 लोग शेयर कर चुके हैं। वीडियो के साथ कैप्शन में लिखा है, ‘मंदसौर में अंजुमन स्कूल से निकलते ही पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगवाए। फिर ये डरे हुए बोलते हैं कि हमने किया क्या है।’

मंदसौर में अंजुमन स्कूल से निकलते ही पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगवाए।।फिर ये डरे हुए बोलते हैं की हमने किया क्या है

Kajal Yadav ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಮಂಗಳವಾರ, ಜುಲೈ 16, 2019

आज की खबर की टीम के पास जब ये वीडियो पहुंचा तो हमने पाया कि वीडियो के साथ किया जा रहा दावा पूरी तरह से  गलत है। वीडियो में मदरसे के बच्चे पाकिस्तान जिंदाबाद नहीं बल्कि साबिर साहब जिंदाबाद कह रहे हैं।

दरअसल, इस स्कूल/मदरसे के प्रिंसिपल का नाम साबिर पानवाला है। स्कूल के बच्चे उन्हीं के समर्थन में नारे लगा रहे थे। जानकारी के मुताबिक स्कूल कमेटी और प्रिंसिपल के बीच कुछ समय से मतभेद चल रहे थे।

जिसके बाद स्कूली छात्रों को लगा कि उन्हें स्कूल से निकाल दिया जाएगा इसलिए बच्चे साबिर के समर्थन में नारे लगाने लगे। आज की खबर की पड़ताल में वीडियो में किया जा रहा दावा पूरी तरह से गलत साबित होता है।

प्रादेशिक

राहुल गांधी के बयान पर भड़की शिवसेना, दे डाली ये नसीहत

Published

on

नई दिल्ली। दिल्ली के रामलीला मैदान से राहुल गांधी द्वारा सावरकर पर दिए बयान पर अब शिवसेना और कांग्रेस पार्टी के बीच तलवारें खिचती नजर आ रही हैं।

भारत बचाओ रैली के दौरान राहुल गांधी ने सावरकर की दुहाई देते हुए कहा था कि वे ‘रेप इन इंडिया’ वाले अपने बयान पर माफी नहीं मांगेगे क्योंकि उनका नाम राहुल सावरकर नहीं, राहुल गांधी है।

इस बयान से शिवसेना तिलमिला गई है। इसके बाद शिवसेना सांसद संजय राउत ने भी राहुल गांधी पर पलटवार कर दिया। संजय राउत ने कहा, राहुल का बयान बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है और सावरकर का बलिदान समझने के लिए राहुल को कांग्रेस नेता कुछ किताबें गिफ्ट करें।

संजय राउत ने मराठी में कहा, “हम पंडित नेहरू, महात्मा गांधी को भी मानते हैं, आप वीर सावरकर का अपमान ना करें, बुद्धिमान लोगों को ज्यादा बताने की जरूरत नहीं होती।”

दूसरे ट्वीट में उन्होंने कहा कि अगर आज भी आप वीर सावरकर का नाम लेते हैं तो देश के युवा उत्तेजित और उद्वेलित हो जाते हैं, आज भी सावरकार देश के नायक हैं और आगे भी नायक बने रहेंगे, वीर सावरकर हमारे देश का गर्व हैं।”

बता दें कि राहुल का इशारा हिंदूवादी नेता विनायक दामोदर सावरकर की ओर से 14 नवंबर, 1913 को ब्रिटिश सरकार को कथित रूप से लिखे गए माफीनामे की तरफ था, जिसे उन्होंने अंडमान की सेलुलर जेल में कैद रहने के दौरान लिखा था।

रेप पर दिए गए बयान को लेकर बीजेपी की ओर से माफी की मांग पर राहुल ने शनिवार को कहा था कि उनका नाम राहुल सावरकर नहीं है, राहुल गांधी है और वे मर जाएंगे पर कभी माफी नहीं मांगेंगे।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending