Connect with us

प्रादेशिक

कर्नाटक के बागी विधायकों पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया फैसला, कहा-स्पीकर लें इस्तीफे पर निर्णय

Published

on

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने कर्नाटक के 15 बागी विधायकों की ओर दायर की गई याचिका पर बुधवार को अपना फैसला सुना दिया।

कोर्ट ने कर्नाटक विधानसभा के अध्यक्ष को आदेश दिया है कि वो विधायकों के इस्तीफे पर फैसला लें लेकिन अध्यक्ष पर किसी समससीमा में फैसला लेने के लिए दबाव नहीं डाला जाएगा।

साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में ये भी कहा कि विधायकों को भी विधानसभा में मौजूद होने के लिए मजबूर नहीं किया जाएगा।

आपको बता दें कि बागी विधायकों की याचिका पर मंगलवार को कोर्ट ने सभी पक्षों की दलीलें सुनने के बाद फैसला बुधवार तक के लिए सुरक्षित रख लिया था।

इस मामले में मुख्यमंत्री की ओर से पेश वरिष्ठ वकील राजीव धवन ने कहा कि बागी विधायक सरकार को गिराना चाहते हैं। ये विधायक चाहते हैं स्पीकर के अधिकारों के मामले में अदालत दखल दे।

प्रादेशिक

कैबिनेट में फेरबदल से पहले योगी सरकार के वित्त मंत्री ने दिया इस्तीफा

Published

on

लखनऊ। योगी सरकार द्वारा बुधवार को किए जाने वाले कैबिनेट विस्तार से पहले मंगलवार को वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने इस्तीफा दे दिया है।

राजेश ने इस्तीफे के लिए स्वास्थ्य कारणों का हवाला दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक स्वास्थ्य कारणों और बढ़ती उम्र की वजह से उन्होंने सीएम योगी को अपना इस्तीफा सौंपा है।

हालांकि उनका इस्तीफा मंजूर हुआ है या नहीं इस बात की जानकारी नहीं मिली है। गौरतलब है कि 75 साल के राजेश अग्रवाल बरेली से लगातार बीजेपी विधायक रहे हैं।

वे पार्टी के कद्दावर नेताओं में से एक हैं। अपने इस्तीफे में उन्होंने लिखा है कि अब वे 75 वर्ष के होने जा रहे हैं। पार्टी की रीती-नीति के अनुसार वे अपना त्याग पत्र बीजेपी नेतृत्व को दो दिन पहले ही सौंप चुके हैं।

उन्होंने लिखा है कि उनकी जगह कुछ नए और योग्य चेहरों को काम करने का अवसर दिया जाए। साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ पार्टी संगठन के लिए काम करते रहने की बात कही है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending