Connect with us

नेशनल

मीडिया के सामने फूट-फूटकर रोए साक्षी के भाई, कहा-मैनें हमेशा उसे…..

Published

on

नई दिल्ली। बरेली के बिथरी से विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल की बेटी साक्षी को लेकर उसके भाई ने कई राज खोले हैं। मीडिया बात करते हुए विक्की भरतौल ने कहा कि उसे यह उम्मीद बिल्कुल नहीं थी। उसने जो आरोप लगाए हैं वो असहनीय हैं।

बातचीत के दौरान विक्की ने बताया कि उनकी बहन का चाहे जो आरोप लगाए लेकिन सच तो ये है कि उन्होंने उसे हर तरह से सपोर्ट किया है।

उन्होंने बताया कि जब पढ़ाई के लिए वो जयपुर जाना चाहती थी तो उसने ही इस बात के लिए घरवालों को मनाया था। जयपुर के जिस कॉलेज में मोबाइल प्रतिबंधित था, वहां उसे उसकी फरमाइश पर 20 हजार रुपये का मोबाइल भी दिलाया।

पुरानी बातों को याद करते हुए विक्की अचानक भावुक हो गए और आर भारत के रिपोर्टर के सामने फूट-फूटकर रोने लगे। विधायक राजेश मिश्रा ने एक अखबार से बातचीत में कहा कि अजितेश उर्फ अभि उनके बेटे विक्की का दोस्त था।

हालांकि उसकी और विक्की की उम्र में काफी अंतर है। उन्होंने बताया कि उन्हें विक्की से अजितेश की दोस्ती की तो जानकारी थी, लेकिन अजितेश उनके घर पर भी अक्सर आता-जाता था, यह उन्हें अब पता लगा है। दरअसल अजितेश तभी उनके घर आता था, जब वह नहीं होते थे।

बेटी साक्षी के इस आरोप पर कि वह उसके साथ ज्यादा बात नहीं करते थे, उन्होंने कहा कि यह आरोप गलत है। बेटे और दोनों बेटियों से वह हमेशा दोस्ताना व्यवहार रखते थे। वह जब भी घर पहुंचते थे और कभी उन्हें कोई गुमसुम दिखता था तो वह हंसी-मजाक कर उसे बगैर हंसाए नहीं छोड़ते थे। हालांकि अब इन बातों का कोई मतलब नहीं है। जो होना था, हो चुका है। वह अब इस मसले पर ज्यादा कुछ नहीं कहना चाहते। अपने काम में व्यस्त होना चाहते हैं।

नेशनल

सुप्रीम कोर्ट ने गुलाम नबी आजाद को दी कश्मीर जाने की इजाजत, कर सकेंगे 4 जिलों का दौरा

Published

on

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद को कश्मीर जाने की इजाजत मिल गई है। सोमवार को जम्मू कश्मीर से जुड़ी 8 याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए उच्चतम न्यायालय ने आजाद को कश्मीर जाने की इजाजत दे दी। अब आजाद अदालत के आदेश के बाद 4 जिले बारामूला, अनंतनाग, श्रीनगर जम्मू का का दौरा कर सकेंगे।

सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में गुलाम नबी आजाद की तरफ से अभिषेक मनु सिंघवी ने दलीलें रखीं। उन्होंने अदालत में कहा कि गुलाम नबी आजाद 6 बार के सांसद हैं, पूर्व मुख्यमंत्री हैं फिर भी श्रीनगर एयरपोर्ट से वापस भेज दिया गया। गुलाम नबी आजाद ने 8, 20 और 24 अगस्त को वापस जाने की कोशिश की।

गौरतलब है कि गुलाम नबी आजाद ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका डालकर अपने परिवार से मिलने की इजाजत मांगी थी। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने सीपीआई (एम) नेता सीताराम येचुरी को भी श्रीनगर जाने की इजाजत दी थी। सीताराम येचुरी ने अपनी पार्टी के नेता एमवाई तारिगामी से मिलने की इजाजत मांगी थी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending