Connect with us

प्रादेशिक

असम में जापानी बुखार का कहर, 56 लोगों की मौत

Published

on

नई दिल्ली। असम में इन दिनों जापानी बुखार बच्चों पर कहर बनकर टूट पड़ा है। बीते दिनों में चमकी बुखार ने न जाने कितने ही बच्चों को चपेट में लिया था और अब उसका बचा हुआ काम जापानी बुखार यानि इन्सेफ़लाइटिस कर रहा है। मिली जानकारी के अनुसार इस बुखार के करीब 216 मामले सामने आये हैं जिनमें से अप्रैल से लेकर अब तक 56 लोगों की मौत हो चुकी है। असम सरकार ने मामले की गंभीरता को देखते हुए स्वस्थ्य विभाग के सभी कर्चारियों की छुट्टियों को सितम्बर अंत तक रद्द करने का नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। इससे पहले गोरखपुर से बिहार के मुजफ्फरपुर तक फैले चमकी बुखार की वजह सैकड़ों बच्चों की मौत का तांडव देखने को मिला था जिसके बाद इसके बारे में इंटरनेट पर खूब सरचिंग हुई थी। अब इन्सेफ़लाइटिस के बारे में जानने के लिए इंटरनेट पर लगातार सर्च जारी है।

स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्व शर्मा का कहना है, ‘इमर्जेंसी केस में केवल डेप्युटी कमिश्नर को छुट्टी की इजाजत मिलेगी। हमने ये भी निर्देश दिए हैं कि कोई भी डॉक्टर, नर्स या दूसरे स्वास्थ्य कर्मी अपनी पोस्टिंग वाली जगह से बाहर नहीं जाएंगे। इस दौरान कोई भी गैरहाजिर पाया जाता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। साथ ही अनाधिकारिक अनुपस्थिति को आपराधिक लापरवाही मानते हुए संबंधित शख्स के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी।’ शर्मा का कहना है, ‘जेई के लिए असम इस वक्त संक्रमण काल से गुजर रहा है। 5 जुलाई तक जेई के 190 मामले सामने आए, जिनमें 49 मरीजों की मौत हो गई।’

स्वास्थ्य विभाग ने इसके लिए कई आपातकालीन कदम भी उठाए हैं। इसके तहत जेई या एईएस (अक्यूट इन्सेफलाइटिस सिंड्रोम) से पीड़ित मरीजों को 1000 रुपये स्पेशल ट्रांसपॉर्ट अलाउंस (भत्ता) दिया जाएगा। इसके अलावा दवा, जांच, हॉस्पिटल खर्च के साथ ही आईसीयू में केयर का वहन भी स्वास्थ्य विभाग करेगा। इन्सेफ़लाइटिस से पीड़ित कोई मरीज अगर सरकारी अस्पताल में बेड की अनुपलब्धता की वजह से किसी निजी अस्पताल के आईसीयू में भर्ती होता है तो अलाउंस के रूप में एक लाख रुपये तक का भुगतान सीधे अस्पताल को किया जाएगा।

प्रादेशिक

आंंध्र प्रदेश में बड़ा हादसा, गोदावरी नदी में पलटी नाव, 61 लोग थे सवार

Published

on

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली। आंध्र प्रदेश से बड़ी खबर सामने आई है। यहां गोदावरी नदी में एक नौका के पलट जाने से कई लोगों के डूबने की आशंका है।

आपको बता दें कि गोदावरी में इस समय बाढ़ आई हुई है। मिली जानकारी के मुताबिक यह हादसा पूर्वी गोदावरी जिले के देवीपटनम में हुआ है। घटना के समय नाव में 61 लोग सवार थे।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक हादसे में अबतक करीब 10 लोगों को बचा लिया गया है। फिलहाल 30 सदस्यीय एनडीआरएफ की दो टीमें मौके के लिए रवाना हुई हैं। एसपी अदनान अंसारी ने बताया कि हादसे के बारे में पूरा ब्योरा जुटाया जा रहा है।

आंध्र प्रदेश टूरिज्म डवलपमेंट कॉर्पोरेशन की तरफ से संचालित यह नाव देवीपाटनम के पास गांधी पोचम्मा मंदिर से एक प्रमुख पर्यटन स्थल पपिकोंडालु के लिए चली थी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending